जम्मू-कश्मीर- सोपोर में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में दो आतंकियों को ढेर किया

कश्मीर घाटी के सोपोर में मंगलवार को सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। यहां आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है।

0 14

- Advertisement -

श्रीनगर । कश्मीर घाटी के सोपोर में मंगलवार को सुरक्षाबलों को बड़ी कामयाबी मिली है। यहां आतंकियों के साथ मुठभेड़ में सुरक्षा बलों ने दो आतंकियों को ढेर कर दिया है।

एएनआई के मुताबिक कश्मीर के बारामुला जिले के सोपोर में यह एनकाउंटर सोमवार और मंगलवार की दरम्यानी रात को 2 बजे के आसपास शुरू हुआ।

जम्मू और कश्मीर पुलिस के मुताबिक एनकाउंटर में स्थानीय पुलिस और सुरक्षा बलों ने अंजाम दिया है। हालांकि सर्च ऑपरेशन अभी भी चल रहा है।

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों की मौजूदगी की जानकारी मिलने के बाद सुरक्षा बलों ने सोमवार देर रात सोपोर के पेठसीर में घेराबंदी कर तलाश अभियान शुरू किया था। मंगलवार तड़के आतंकवादियों के सुरक्षा बल पर गोलियां चलाने से अभियान मुठभेड़ में तब्दील हो गया। सुरक्षा बलों ने भी गोलीबारी का माकूल जवाब दिया।

इससे पहले 21 अगस्त को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा जिले में सुरक्षा बलों और आतंकवादियों के बीच मुठभेड़ में जैश-ए मोहम्मद के तीन आतंकवादी मारे गए थे।

- Advertisement -

सुरक्षा अधिकारियों ने बताया था कि आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना मिलने पर सुरक्षा बलों ने दक्षिण कश्मीर जिले के नागबेरान त्राल के वन क्षेत्र में ऊंचाई वाले इलाकों में घेराबंदी और तलाश अभियान चलाया।

इसके बाद आतंकवादियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी की, जिसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। गोलीबारी के दौरान जैश-ए-मोहम्मद से संबद्ध तीन आतंकवादी मारे गए।

वहीं बीते गुरुवार को जम्मू और कश्मीर के राजौरी में आतंकवादियों के साथ भीषण मुठभेड़ में थलसेना के एक जूनियर कमीशंड अधिकारी (जेसीओ) शहीद हो गए और इस दौरान एक आतंकवादी भी मारा गया।

रक्षा विभाग के जन संपर्क अधिकारी (जम्मू) लेफ्टिनेंट कर्नल देवेन्द्र आनंद ने बताया कि दाना गांव में तलाशी अभियान के दौरान जेसीओ सूबेदार राम सिंह के नेतृत्व वाली टीम पर पास के घने जंगलों में छुपे आतंकवादियों ने गोलियां चला दीं।

अधिकारी ने बताया कि जेसीओ ने तुरंत जवाबी कार्रवाई की, जिसमें एक आतंकवादी मारा गया और सूबेदार राम सिंह भी गोली लगने से घायल हो गए। उन्होंने बताया कि राम सिंह को तत्काल प्राथमिक चिकित्सा दी गई और उपचार के लिए नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया, लेकिन उनकी जान नहीं बचाई जा सकी।

अगस्त, 2021 में राजौरी क्षेत्र में यह दूसरी मुठभेड़ थी। इससे पहले छह अगस्त को हुई मुठभेड़ में लश्कर-ए-तैयबा के दो आतंकवादियों को मार गिराया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.