एसीबी ने दुमका के पदस्थापित कार्यपालक अभियंता को किया गिरफ्तार

दुमका के पदस्थापित कार्यपालक अभियंता को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने बुधवार को रांची से गिरफ्तार किया हैं। एसीबी की टीम ने बुधवार को कार्रवाई करते हुए पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता संजय कुमार को अरगोड़ा थाना क्षेत्र स्थित बसंत विहार कॉलोनी से गिरफ्तार किया है।

0 37

- Advertisement -

रांची। दुमका के पदस्थापित कार्यपालक अभियंता को भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने बुधवार को रांची से गिरफ्तार किया हैं। एसीबी की टीम ने बुधवार को कार्रवाई करते हुए पेयजल एवं स्वच्छता विभाग के कार्यपालक अभियंता संजय कुमार को अरगोड़ा थाना क्षेत्र स्थित बसंत विहार कॉलोनी से गिरफ्तार किया है। रांची से गिरफ्तार करने के बाद एसीबी की टीम संजय कुमार को धनबाद ले गयी और उन्हें कोर्ट में पेश किया गया।

अभी आगे की कार्रवाई चल रही है।धनबाद के गोविंदपुर और निरसा प्रखंड की पंचायतों में वर्ष 2011-12, 2012-13 और 2013-14 में लगाए गए नलकूपों की जांच तकनीकी परीक्षक कोषांग से करायी गयी थी। जांच में करीब दो करोड़ से अधिक राशि का घपला का मामला सामने आया हैं। छानबीन से पता चला कि सामान्य चापानल, विशेष मरम्मत चापानल, उच्च प्रवाही नलकूप, फोर्स एंड लिफ्ट व स्वजल धारा योजना के तहत कई स्थानों पर निर्माण काम नहीं कराया गया।

- Advertisement -

नए चापानल और विशेष मरम्मत चापानल के पास चाताल और नाला के अलावा शॉकपिट का निर्माण भी ठेकेदारों ने नहीं किया था। लेकिन अभियंताओं की मिलीभगत से बिना काम कराये मापी पुस्तिका, फाइल बिल तैयार कर ठेकेदारों को राशि का भुगतान कर दिया गया।

 बता दें, छानबीन के बाद सच्चाई सामने आने पर एसीबी ने नलकूप घोटाला में एसीबी ने 29 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज किया था। जिनमें 11 इंजीनियर और 18 ठेकेदार सम्मिलित हैं। उन लोगो के प्राथमिकी दर्ज कराने की अनुमति मांगी थी। मंत्रिमंडल निगरानी विभाग से अनुमति मिलने के बाद एसीबी ने यह कार्रवाई की गई है। और निरसा प्रखंड की अलग-अलग पंचायतों में नलकूप लगाने में गड़बड़ी की गयी थी। शिकायत की जांच में धनबाद एसीबी ने मामले को सही पाया था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.