उपचुनाव से पहले भाजपा के झारसुगुड़ा अध्यक्ष ने थामा बीजद का दामन

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को झारसुगुडा उपचुनाव से पहले बड़ा झटका लगा है। भाजपा के जिला अध्यक्ष मंगल साहू ने पार्टी छोड़ने के बाद बुधवार को सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) का दामन थाम लिया। बीजद के राज्यसभा सांसद मानस मंगराज और अन्य नेताओं ने यहां शंख भवन में साहू का स्वागत किया।

0 22

- Advertisement -

भुवनेश्वर। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को झारसुगुडा उपचुनाव से पहले बड़ा झटका लगा है। भाजपा के जिला अध्यक्ष मंगल साहू ने पार्टी छोड़ने के बाद बुधवार को सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) का दामन थाम लिया। बीजद के राज्यसभा सांसद मानस मंगराज और अन्य नेताओं ने यहां शंख भवन में साहू का स्वागत किया। सूत्रों ने बताया कि साहू ने बाद में बीजद सुप्रीमो और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से भी उनके आवास पर मुलाकात की। साहू लगभग दो दशक से भाजपा की ओडिशा इकाई में विभिन्न पदों पर थे।

इस अवसर पर साहू ने कहा कि मैं झारसुगुड़ा जिले में भाजपा संगठन को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा था। मुझे दुख तब हुआ जब भाजपा के कुछ नेता पार्टी की विचारधारा और सिद्धांतों को छोड़कर ओछी राजनीति करने लगे। इसलिए मैंने भाजपा छोड़ दी और बीजद में शामिल हो गया।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्व में बीजद ओडिशा के लोगों के विकास के लिए काम कर रहा है। बीजद नेतृत्व द्वारा मुझे दी गई किसी भी जिम्मेदारी को निभाने के लिए मैं तैयार हूं। मैं झारसुगुड़ा के लोगों के विकास के लिए काम करूंगा।

 वहीं, ओडिशा भाजपा अध्यक्ष मनमोहन सामल ने कहा कि साहू के इस्तीफे का आगामी उपचुनाव में पार्टी की संभावनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा। भाजपा किसी व्यक्ति पर निर्भर नहीं है। पार्टी की अपनी विचारधारा और जनोन्मुखी एजेंडा है। गौरतलब है कि झारसुगुड़ा विधानसभा सीट पर 10 मई को उपचुनाव होना है।

- Advertisement -

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को झारसुगुडा उपचुनाव से पहले बड़ा झटका लगा है। भाजपा के जिला अध्यक्ष मंगल साहू ने पार्टी छोड़ने के बाद बुधवार को सत्तारूढ़ बीजू जनता दल (बीजद) का दामन थाम लिया। बीजद के राज्यसभा सांसद मानस मंगराज और अन्य नेताओं ने यहां शंख भवन में साहू का स्वागत किया। सूत्रों ने बताया कि साहू ने बाद में बीजद सुप्रीमो और मुख्यमंत्री नवीन पटनायक से भी उनके आवास पर मुलाकात की। साहू लगभग दो दशक से भाजपा की ओडिशा इकाई में विभिन्न पदों पर थे।

इस अवसर पर साहू ने कहा कि मैं झारसुगुड़ा जिले में भाजपा संगठन को मजबूत करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा था। मुझे दुख तब हुआ जब भाजपा के कुछ नेता पार्टी की विचारधारा और सिद्धांतों को छोड़कर ओछी राजनीति करने लगे। इसलिए मैंने भाजपा छोड़ दी और बीजद में शामिल हो गया।

उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नवीन पटनायक के नेतृत्व में बीजद ओडिशा के लोगों के विकास के लिए काम कर रहा है। बीजद नेतृत्व द्वारा मुझे दी गई किसी भी जिम्मेदारी को निभाने के लिए मैं तैयार हूं। मैं झारसुगुड़ा के लोगों के विकास के लिए काम करूंगा।

 वहीं, ओडिशा भाजपा अध्यक्ष मनमोहन सामल ने कहा कि साहू के इस्तीफे का आगामी उपचुनाव में पार्टी की संभावनाओं पर कोई असर नहीं पड़ेगा। भाजपा किसी व्यक्ति पर निर्भर नहीं है। पार्टी की अपनी विचारधारा और जनोन्मुखी एजेंडा है। गौरतलब है कि झारसुगुड़ा विधानसभा सीट पर 10 मई को उपचुनाव होना है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.