मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने रसायन एवं उर्वरक मंत्री को राज्य में उर्वरकों की कम आपूर्ति को लेकर लिखा पत्र

ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शनिवार को केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री मनसुख मंडाविया को राज्य में उर्वरकों की कम आपूर्ति को लेकर पत्र लिखा है। पटनायक ने राज्य की आवश्यकता के अनुसार मासिक संचलन आपूर्ति योजनाओं में उर्वरकों के आवंटन और अप्रैल महीने के दौरान आपूर्ति के लिए मंत्री को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मई, जून और जुलाई के महीने में विभिन्न उर्वरकों की भारी कमी हुई है।

0 15

- Advertisement -

भुवनेश्वर| ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने शनिवार को केंद्रीय रसायन एवं उर्वरक मंत्री मनसुख मंडाविया को राज्य में उर्वरकों की कम आपूर्ति को लेकर पत्र लिखा है।

पटनायक ने राज्य की आवश्यकता के अनुसार मासिक संचलन आपूर्ति योजनाओं में उर्वरकों के आवंटन और अप्रैल महीने के दौरान आपूर्ति के लिए मंत्री को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि मई, जून और जुलाई के महीने में विभिन्न उर्वरकों की भारी कमी हुई है।

नवीन पटनायक ने कहा कि वर्तमान खरीफ सीजन के दौरान, राज्य को अब तक 1,45,145 मीट्रिक टन यूरिया प्राप्त हुआ है, जबकी हमें 2,31,530 मीट्रिक टन यूरिया से 2,10,000 मीट्रिक टन यूरिया मिलनी चाहीए थी।

- Advertisement -

उन्होंने आगे कहा इसी तरह, 97,763 मीट्रिक टन डीएपी प्राप्त हुआ है, जबकी हमें  1,52,000 मीट्रिक टन के आवंटन से 1,45,000 मीट्रिक टन की आपूर्ति योजना बनी थी।

पटनायक ने अपने पत्र में आगे उल्लेख किया कि 67,200 मीट्रिक टन और 1,68,400 के आवंटन के मुकाबले 42,867 मीट्रिक टन एमओपी और 1,05,798 मीट्रिक टन एनपीके की आपूर्ति की गई है। जबकी सहमति 60,000 मीट्रिक टन और 1,42,000 मीट्रिक टन की आपूर्ति योजना पर व्यक्त की गई है।

उन्होंने आगे कहा कि कुल मिलाकर यूरिया की आपूर्ति आवंटन के मुकाबले 62 फीसदी और तय आपूर्ति योजना के मुकाबले 69 फीसदी रही है। अन्य उर्वरकों के लिए, आपूर्ति राशि 60 प्रतिशत से 74 प्रतिशत के बीच है।

उन्होंने मंडाविया को लिखा कि राज्य में किसानों को चक्रवात यास और पिछले वर्षों के दौरान कई चक्रवाती तूफानों के कारण गंभीर नुकसान हुआ है। इसलिए उनके उत्पादन को बढाने के लिए सबसे महत्वपूर्ण इनपुट यानी उर्वरक की आपूर्ति आवश्यकता के अनुसार होनी चाहिए।

Leave A Reply

Your email address will not be published.