सीएम से लम्बी चर्चा के बाद भी सिंहदेव की नाराजगी कायम, दिल्ली जायेंगे ?

छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र के दौरान नाराज होकर सदन से निकले स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव बुलावे पर दुबारा विधानसभा पहुंचे |  सीएम भूपेश बघेल से ढाई घन्टा चर्चा के बाद भी असंतुष्ट नजर आये  बाहर मीडिया के सवालों का जवाब देते यही झलक रहा था |इधर राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा है कि असंतुष्ट सिंहदेव इस मसले पर हाईकमान से चर्चा के लिए दिल्ली जा सकते हैं।

0 27

- Advertisement -

deshdigital

छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र के दौरान नाराज होकर सदन से निकले स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव बुलावे पर दुबारा विधानसभा पहुंचे |  सीएम भूपेश बघेल से ढाई घन्टा चर्चा के बाद भी असंतुष्ट नजर आये  बाहर मीडिया के सवालों का जवाब देते यही झलक रहा था |इधर राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा है कि असंतुष्ट सिंहदेव इस मसले पर हाईकमान से चर्चा के लिए दिल्ली जा सकते हैं।

बताया जाता है कि कांग्रेस प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया ने उन्हें फोन कर चर्चा के लिए विधानसभा वापस बुलाया था । दोबारा विधानसभा पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव  की अन्य मंत्रियों की मौजूदगी में बृहस्पत सिंह विवाद पर चर्चा हुई।

करीब ढाई घंटे बाद सिंहदेव और संसदीय कार्य मंत्री रविंद्र चौबे वहां से घर चले गए | बैठक में क्या नतीजा निकला, यह अभी स्पष्ट नहीं हो सका है।

इधर श्री सिंहदेव ने बैठक के बाद मीडिया से चर्चा में कहा कि सीएम, और प्रदेश प्रभारी पीएल पुनिया से उनकी चर्चा हुई है। विवाद के निपटारे पर सिर्फ इतना ही कहा कि यह भविष्य के गर्भ में है, और वे अपने स्टैण्ड पर कायम हैं।

- Advertisement -

बता दें सदन में अपनी नाराजगी जाहिर करने के बाद स्वास्थ्य मंत्री श्री सिंहदेव सीधे अपने निवास आ गए थे। इसके बाद सीएम के बुलावे पर वे बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय के साथ फिर से विधानसभा पहुंचे, जहां उन्होंने सभी से चर्चा की।

pics facebook

इधर सीएम ने एक बार फिर कैबिनेट के मंत्रियों की बैठक बुलायी है। मुख्यमंत्री निवास में ये बैठक चल रही है।  इस बैठक में  सिंहदेव नहीं पहुंचे हैं। आज दिन में दूसरी बार वे  मंत्रियों संग  बैठक हो रही है।

इधर राजनीतिक गलियारों में इसकी चर्चा है कि असंतुष्ट सिंहदेव इस मसले पर हाईकमान से चर्चा के लिए दिल्ली जा सकते हैं। बहरहाल,  मामला और भी तूल पकड़ रहा है।

सिंहदेव के बहिर्गमन के बाद  भाजपा  तीखे हमले कर रही है | नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने कहा, यह सही नहीं हुआ है.. जेपीसी का गठन करिए ताकि सच सामने आए|

जबकि पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा यह सदन के मान सम्मान का प्रश्न है| इसका रास्ता यह है कि संयुक्त विधायक दल का गठन करिए| वह रिपोर्ट आ जाएगी तो सदन संतुष्ट हो जाएगा|

Leave A Reply

Your email address will not be published.