अहमदाबाद टेस्ट :   रोहित के अर्धशतक से भारत  मजबूत

0 1

अहमदाबाद |   अक्षर पटेल के छह विकेटों के बाद रोहित शर्मा (नाबाद 57) की जिम्मेदारी भरी पारियों के सहारे भारत ने  तीसरे टेस्ट मैच के पहले दिन बुधवार को अपनी स्थिति मजबूत कर ली है। भारत ने इस डे-नाइट टेस्ट मैच में इंग्लैंड को उसकी पहली पारी में 112 रन पर ढेर करने के बाद दिन का खेल समाप्त होने तक अपनी पहली पारी में तीन विकेट पर 99 रन बना लिए हैं और भारत अब इंग्लैंड के स्कोर से मात्र 13 रन ही पीछे है, जबकि उसके सात विकेट शेष हैं।

रोहित 82 गेंदों पर नौ चौके लगा चुके हैं। उनके साथ जबकि अजिंक्य रहाणे भी तीन गेंदों पर एक बनाकर नाबाद हैं। रोहित के करियर का यह 12वां टेस्ट अर्धशतक है।

इंग्लैंड की ओर से जैक लीच को दो और जोफरा आर्चर को अब तक एक सफलता मिली है।

इससे पहले, भारत ने डिनर के बाद बिना विकेट खोए पांच रन से आगे खेलना शुरू किया। रोहित ने पांच रन से आगे खेलना शुरू किया, जबकि शुभमन गिल को अपना खाता खोलना बाकी था।

दोनों बल्लेबाजों ने पहले विकेट के लिए 33 रन जोड़े। इसके बाद गिल 51 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 11 रन बनाकर जोफरा आर्चर की गेंद पर जैक क्रॉली के हाथों लपके गए। गिल के आउट होने के बाद बल्लेबाजी करने चेतेश्वर पुजारा खाता खोले बिना जैक लीच की गेंद पर पगबाधा आउट हो गए।

पुजारा के आउट होने के बाद रोहित ने कप्तान विराट कोहली (27) के साथ तीसरे विकेट के लिए 64 रनों की साझेदारी करके भारत को मजबूती दी। कोहली हालांकि दिन का खेल समाप्त होने से कुछ मिनट पहले ही लीच की गेंद पर बोल्ड हो गए। उन्होंने 58 गेंदों पर तीन चौके लगाए।

कोहली के आउट होने के बाद रोहित और रहाणे ने भारत को और कोई झटका नहीं लगने दिया और दिन का खेल निकाल दिया।

वहीं, भारत ने लेफ्ट आर्म स्पिनर अक्षर पटेल (38 रन पर छह विकेट) और ऑफ स्पिनर रविचंद्रन अश्विन (26 रन पर तीन विकेट) की शानदार गेंदबाजी के दम पर इंग्लैंड की पहली पारी 112 पर ढेर कर दिया।

इंग्लैंड के कप्तान जोए रूट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया, लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने उनके फैसले को गलत साबित कर दिया और नियमित अंतराल पर विकेट गंवाने के कारण मेहमान टीम सम्मानजनक स्कोर भी नहीं बना पाई।

इंग्लैंड का भारत दौरे पर टेस्ट मैच में यह दूसरा सबसे न्यूनतम स्कोर है। इससे पहले 1979-80 में मुंबई में हुए टेस्ट मैच में इंग्लैंड की पारी 102 रन पर ऑलआउट हुई थी, जो उसका भारत में टेस्ट में न्यूनतम स्कोर था। इसके अलावा इंग्लैंड का भारत के खिलाफ टेस्ट का यह चौथा न्यूतनम स्कोर है।

इंग्लैंड की शुरुआत बेहद खराब रही और उसने पहले सत्र में चायकाल तक 81 रन पर ही चार विकेट गंवा दिए थे। डॉमिनिक सिब्ले और जॉनी बेयरस्टो अपना खाता भी नहीं खोल पाए। सिब्ले को ईशांत ने और बेयरस्टो को अक्षर ने पगबाधा आउट किया।

हालांकि जोए रूट और जैक क्रावली ने तीसरे विकेट के लिए 47 रनों की साझेदारी करके इंग्लैंड को थोड़ी मजबूती दी। लेकिन अनुभवी आफ स्पिनर अश्विन ने रूट को पगबाधा चलता किया। कप्तान रूट ने 37 गेंदों पर दो चौकों की मदद से 17 रन बनाए।

इसके बाद क्रावली भी अक्षर की गेंद पर पगबाधा हो गए। उन्होंने 53 रनों का योगदान दिया और अपने करियर का चौथा अर्धशतक पूरा किया। चायकाल के तुरंत बाद ओली पोप (1) को अश्विन ने बोल्ड किया। वहीं, अक्षर ने बेन स्टोक्स (6), जोफरा जोफ्रा (11) को अपना शिकार बनाया। उनके बाद अश्विन जैक लीच (3) को आउट किया। अक्षर ने फिर स्टुअर्ट ब्रॉड (3) और बेन फोक्स (12) को आउट करके इंग्लैंड की पारी 112 रनों पर समेट दी।

भारत की ओर से अक्षर ने छह विकेट लिए। उन्होंने लगातार दूसरी बार पांच विकेट लिए हैं। उनके अलावा अश्विन ने तीन विकेट और अपना 100वां टेस्ट खेल रहे तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा ने एक विकेट लिया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.