भारत में हॉकी के असली ‘नायक’ बनकर उभरे नवीन पटनायक

टोक्यो ओलंपिक खेलों में भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीम के शानदार प्रदर्शन के पीछे ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की भी अहम भूमिका रही है।

0 14

- Advertisement -

टोक्यो. टोक्यो ओलंपिक खेलों में भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीम के शानदार प्रदर्शन के पीछे ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक की भी अहम भूमिका रही है।

पटनायक आज भारत में हॉकी के असली ‘नायक’ बनकर उभरे हैं। यह इसलिए क्योंकि साल 2018 में सहारा के आर्थिक संकट के कारण प्रायोजन से हटने पर जब कोई भी अन्य समूह भारतीय हॉकी टीमों के लिए आगे नहीं आया

तब उड़ीसा सरकार ने ही हॉकी इंडिया के साथ अगले 5 साल हॉकी टीमों को प्रायोजित करने के लिए 100 करोड़ का समझौता किया था। तब पटनायक  ने इसे ओडिशा की ओर से देश को एक तोहफा बताते हुए कहा था

कि यह खेल राज्य के आदिवासी क्षेत्र, जहां बच्चे हॉकी स्टिक के साथ चलना सीखते हैं। में जिंदगी जीने का एक तरीका है।

भारतीय हॉकी को नए शिखर पर पहुंचाने की उनकी कोशिश को अक्सर सोशल मीडिया ओर अन्य कई जगहों पर सराहा गया है। वहीं ओडिशा जैसे गरीब राज्य के लिए 100 करोड़ रुपए हॉकी पर खर्च करने के कारण उन्हें आलोचनाओं का शिकार भी होना पड़ा है।

इसके बाद भी पटनायक हॉकी को आगे बढ़ाने के लिए डटे रहे। जब उन्होंने हॉकी इंडिया से करार किया था, तब आलोचकों ने जबरदस्त विरोध करते हुए कहा कि एक गरीब राज्य हॉकी पर सरकारी खजाने से 100 करोड़ रुपये का बोझ कैसे सहन करेगा।

वहीं पटनायक ने आलोचकों को माकूल जवाब देते हुए कहा कि खेल में निवेश युवाओं में निवेश है। उन्होंने कहा कि इस मंत्र ने ओडिशा का ध्यान हॉकी पर केंद्रित करवाया, जो एक तरह से जनजातीय आबादी के लिये जीवन जीने का तरीका है।

- Advertisement -

उन्होंने 5 सालों में प्रायोजन राशि को भी बढ़ाकर 150 करोड़ कर दिया है। ओडिशा सरकार ने घोषणा की है कि 38 चैंपियनों ने हॉकी में इतिहास लिखा, 1.3 अरब भारतीय अब सीना तान कर चलते हैं.

ओडिशा आज देश में हॉकी का केंद्र बन गया है।

भारतीय जर्सी पर इंडिया के साथ ‘ओड़िसा’ लिखे होने का यही कारण

भारतीय महिला और पुरुष हॉकी टीम के ओलंपिक में शानदार सफर में ओडिशा सरकार भी सहभागी रही है। सहारा कंपनी के खराब आर्थिक हालात को देखते हुए करार से हटने के बाद ओडिशा सरकार भारतीय हॉकी के प्रायोजक के तौर पर सामने आई थी।

राज्य सरकार पिछले 3 साल से भारतीय हॉकी टीम को स्पॉन्सर कर रही है। हाल के वर्षों में पुरूष हॉकी विश्व कप, विश्व लीग, प्रो लीग और ओलंपिक क्लॉलिफार्स जैसे कई बड़े टूर्नामेंट के मैच भुवनेश्वर में हुए हैं।

ओडिशा सरकार की तरफ से लगातार विभिन्न माध्यमों से हॉकी टीमों को सहायता किया जाता रहा है। ओडिशा देश का अकेला राज्य हैं जो किसी भी राष्ट्रीय हॉकी टीम का आधिकारिक पार्टनर हैं।

एकनिष्ठ, अखंड, अक्षुण्ण भारतीय जर्सी पर इंडिया के साथ ‘ओड़िसा’ लिखे होने का यही कारण है। उड़ीसा तब हॉकी के लिए सामने आया जब वह कठिन हालातों में थी। ऐसे में राज्य के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने सहयोग के लिए हाथ बढ़ाया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.