चक्रवाती घेरा, मध्य छत्तीसगढ़ में भारी बारिश की सम्भावना

मानसून की सक्रियता दुबारा प्रदेश में दिखाई दे रही है। चक्रवाती घेरा के कारण राजधानी रायपुर में  करीब आधे घंटे तक  जमकर बारिश भी हुई।   मौसम विभाग ने  मध्य छग में भारी बारिश की  सम्भावना जताई है। 23 जून को भी प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना जताई गई है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ भारी बारिश तथा गाज  गिरने की संभावना है।

0 37

- Advertisement -

 रायपुर| मानसून की सक्रियता दुबारा प्रदेश में दिखाई दे रही है। चक्रवाती घेरा के कारण राजधानी रायपुर में  करीब आधे घंटे तक  जमकर बारिश भी हुई।   मौसम विभाग ने  मध्य छग में भारी बारिश की  सम्भावना जताई है। 23 जून को भी प्रदेश के अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने अथवा गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना जताई गई है। प्रदेश में एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ भारी बारिश तथा गाज  गिरने की संभावना है।

इधर आपदा प्रबंधन नियंत्रण कक्षके मुताबिक 1 जून 2021 से अब तक राज्य में 165.7 मिमी औसत वर्षा दर्ज की जा चुकी है। राज्य के विभिन्न जिलों में 01 जून से आज 22 जून तक रिकार्ड की गई वर्षा के अनुसार कोरबा जिलें में सर्वाधिक 305.8 मिमी और दंतेवाड़ा जिले में सबसे कम 69.3 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गयी है।

मौसम विज्ञानी एच.पी.चंद्रा के अनुसार एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा  उत्तर-पश्चिम बिहार और उससे लगे पूर्वी उत्तर प्रदेश के ऊपर 3.1 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है।

- Advertisement -

एक द्रोणीका माध्य समुद्र तल पर उत्तर पंजाब से उत्तर-पूर्व बंगाल की खाड़ी तक हरियाणा, उत्तर उत्तरप्रदेश, उत्तर-पश्चिम बिहार, झारखंड और गंगेटिक पश्चिम बंगाल तक स्थित है।

एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा बांग्लादेश और उससे लगे उत्तर पूर्व बंगाल की खाड़ी के ऊपर 2.1 किलोमीटर से 7.6 किलोमीटर ऊंचाई पर स्थित है। भारी वर्षा का क्षेत्र मुख्यतः मध्य छत्तीसगढ़  रहने की सम्भावना है।

बाढ़ नियंत्रण कक्ष से प्राप्त जानकारी के अनुसार एक जून से अब तक सरगुजा में 136.5 मिमी, सूरजपुर में 167.7 मिमी, बलरामपुर में 179.7 मिमी, जशपुर में 203.2 मिमी, कोरिया में 154.0 मिमी, रायपुर में 196.7 मिमी, बलौदाबाजार में 195.4 मिमी, गरियाबंद में 201.9 मिमी, महासमुंद में 172.0 मिमी, धमतरी में 213.9 मिमी, बिलासपुर में 169.6 मिमी, मुंगेली में 101.3 मिमी, रायगढ़ में 165.5 मिमी, जांजगीर चांपा में 183.8 मिमी, गौरेला-पेण्ड्रा-मरवाही में 197.6 मिमी, दुर्ग में 229.3 मिमी, कबीरधाम में 76.0 मिमी, राजनांदगांव में 96.7 मिमी, बालोद में 163.4 मिमी, बेमेतरा में 187.1 मिमी, बस्तर 113.9 मिमी, कोण्डागांव में 130.7 मिमी, कांकेर में 150.9 मिमी, नारायणपुर में 153.0 मिमी, सुकमा में 157.1 मिमी और बीजापुर में 168.0 मिमी औसत वर्षा रिकार्ड की गई।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.