भिलाई में कोरोना से एक घर के 4 की 10 दिन के भीतर मौत

0 4

भिलाई| दुर्ग जिले के भिलाई में कोरोना से एक घर के 4 सदस्यों की 10 दिन के भीतर मौत हो गई| मृतकों में माँ-बाप और उसके दो बेटे हैं| इस परिवार में अब बहु व बच्चे ही बचे हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक भिलाई सेक्टर 4  निवासी 78 बरस के हरेंद्र सिंह रावत सबसे पहले कोरोना संक्रमित हुए। 16 मार्च को इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई।

इसके बाद उनके बेटे मनोज सिंह रावत संक्रमण की चपेट में आ गए। उन्हें एम्स रायपुर में भर्ती कराया गया जहां 21 मार्च को मनोज सिंह रावत ने भी दम तोड़ दिया|

मनोज के बाद उसकी मां कौशल्या रावत भी कोरोना संक्रमित हो गई। उनके  बाद उनका दूसरा बेटा मनीष सिंह रावत भी कोरोना संक्रमित हो गया।

इलाज के दौरान 25 मार्च की सुबह कौशल्या रावत की मौत हुई वहीं कुछ घंटों बाद शाम को उसके दूसरे बेटे मनीष सिंह रावत की मौत हो गई। इस प्रकार 10 दिनों के भीतर एक परिवार पूरी तरह बिखर गया।

एक परिवार हफ्ते भर में 3 मौतें 

इधर  राजधानी रायपुर से लगे धरसीवां धनेली सरपंच श्रीमती मनटोरा साहू के घर के 3 सदस्यों की हफ्ते भर के भीतर ही कोरोना से मौत हो गई| मृतकों में सास, पति और बेटा शामिल है|

बुधबार को धनेली सरपंच के  35 वर्षीय बेटे दुष्यंत साहू को सांस लेने में तकलीफ के बाद  अस्पताल  में भर्ती किया गया था, जहां बुधबार 24 मार्च को मौत हो गई।  इसके पहले पति और सास की मौत हुई| जिला प्रशासन पति और बेटे की मौत को  कोरोनावायरस से मौत की पुष्टि की है। वही बूढ़ी माता की मौत पर अभी संशय की स्थिति बनी हुई है।  इन मौतों के बाद  गांव में सभी शासकीय कार्य बाजार सहित दुकानें बंद करा दी गई है।

बता दें छत्तीसगढ़ में कोरोना के आंकड़े चिंताजनक होते जा रहे है। बढ़ते आंकड़ों ने केंद्र और राज्य सरकार की चिंता बढ़ा दे है। इसी बीच 26 मार्च को  छत्तीसगढ़ में कोरोना के 2665 नए आंकड़े की पृष्ठि की गई है।

छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा दुर्ग में 988, रायपुर में 689 और राजनांदगांव में 178 नए मामले मिले है।   छत्तीसगढ़ में कोरोना से मौत भी लगातार जारी है। एक दिनी मौत के मामले में देश में तीसरे पायदान पर आ चुके राज्य में कल 22 लोगों की मौत हो गई।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.