साहित्य अकादमी पुरस्कारों की घोषणा

साहित्य अकादमी ने गुरुवार को अपने प्रतिष्ठित वार्षिक साहित्य अकादमी पुरस्कार, युवा पुरस्कार और बाल साहित्य पुरस्कार 2021 की घोषणा की है|  इस वर्ष हिंदी साहित्य के लिए वरिष्ठ लेखक दया प्रकाश सिन्हा और अंग्रेजी के लिए नमिता गोखले को साहित्य अकादमी पुरस्कार के लिए चुना गया है|

0 22

- Advertisement -

नई दिल्ली| साहित्य अकादमी ने गुरुवार को अपने प्रतिष्ठित वार्षिक साहित्य अकादमी पुरस्कार, युवा पुरस्कार और बाल साहित्य पुरस्कार 2021 की घोषणा की है|  इस वर्ष हिंदी साहित्य के लिए वरिष्ठ लेखक दया प्रकाश सिन्हा और अंग्रेजी के लिए नमिता गोखले को साहित्य अकादमी पुरस्कार के लिए चुना गया है|

पुरस्कारों की अनुशंसा 20 भारतीय भाषाओं के निर्णायक समितियों द्वारा की गई थी| साहित्य अकादमी के अध्यक्ष डॉ. चंद्रशेखर कम्बार की अध्यक्षता में आयोजित अकादमी के कार्यकारी मंडल की बैठक में गुरुवार को इन्हें अनुमोदित किया गया|

- Advertisement -

साहित्य अकादमी पुरस्कारों  के चयनित रचनाओं में सात कविता संग्रह, पांच कहानी संग्रह, दो उपन्यास, दो नाटक, एक जीवन चरित्र, एक आत्मकथा, एक महाकाव्य और एक आलोचना की पुस्तक शामिल है|

साहित्य अकादमी ने असमिया साहित्य   के लिए अनुराधा शर्मा पुजारी के उपन्यास ‘इयत ऐखन आरोन्या असिल’, बांग्ला साहित्य  के लिए ब्रत्य बासु के नाटक ‘मीरजाफर ओ अनन्य नाटक’, बोडो साहित्य के लिए मोदाय गाहाय के कविता संग्रह ‘खर सायाव आरो हिमालय’, डोगरी साहित्य के लिए राज राही के कहानी संग्रह ‘नमें टन्नल’, कन्नड साहित्य के लिए डीएस नागभूषण के जीवन सचित्र ‘गांधी कथाना’, कश्मीरी साहित्य के लिए वली मोहम्मद असीर किश्तवारी की आलोचना ‘तवाजुन’, कोंकणी साहित्य के लिए संजीव वेरेंकार के कविता संग्रह ‘रक्तचंदन’, मलयालम साहित्य के लिए जॉर्ज ओनाक्कूर की आत्मकथा ‘ह्रदयारंगगल’, मराठी साहित्य   लिए किरण गुरव के कहानी संग्रह ‘बलूच्या अवस्थांतराची डायरी’, नेपाली साहित्य के लिए छविलाल उपाध्याय के महाकाव्य ‘उषा-अनिरुद्ध’, ओडिया साहित्य के लिए ह्रषिकेश मल्लिक के कविता संग्रह ‘सरिजैथिबा अपेरा’, पंजाबी साहित्य   के लिए खालिद हुसैन के कहानी संग्रह ‘सूलां दा सालण’, राजस्थानी साहित्य के लिए मीठेश निर्मोही के कविता संग्रह ‘मुगती’, संस्कृत साहित्य   के लिए विन्ध्येश्वरी प्रसाद मिश्र विनय के कविता संग्रह ‘सृजति शंखनादं किल’, संताली साहित्य के लिए निरंजन हांसदा के कहानी संग्रह ‘माने रेना अरहंग’, सिंधी साहित्य के लिए अर्जुन चावला के कविता संग्रह ‘नेना निंदाखरा’, तमिल साहित्य के लिए अम्बई के कहानी संग्रह ‘सिवप्पुक कजूट्टुतन ओरु पक्केई परवाई’ और तेलुगु साहित्य के लिए गोराति वेंकन्ना के कविता संग्रह ‘वल्लकीतालम’ को चुना गया है|

साहित्य अकादमी पुरस्कार 1 जनवरी, 2015 से 31 दिसंबर, 2019 के दौरान पहली बार प्रकाशित पुस्तकों पर दिया गया है| पुरस्कार में एक लाख रुपये की नकद राशि, ताम्रफलक, शॉल और प्रशस्ति पत्र प्रदान किया जाएगा|

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.