बस में पिटाई मामले में कृष्णा रथ की संचालिका सहित तीन हुए गिरफ्तार

0 2

पटना| दिल्ली से कृष्णा रथ बस में आ रहे यूपीएससी की तैयारी करने वाले दो छात्रों के साथ मारपीट करना और पटना में उन्हें बंधक बनाना कृष्णा रथ संचालिका और चालक को महंगा पड़ गया। जक्कनपुर पुलिस ने इस मामले में कृष्णा रथ की संचालिका सुचिता चौधरी और उसके बेटे रिशु को सोमवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया है।

जिस वक्त दोनों छात्रों को बंधक बनाकर मीठापुर बस स्टैंड पर रखा गया था, उस समय सुचिता चौधरी और रिशु भी कृष्णा रथ बस सर्विस के दफ्तर में थे। लेकिन किसी ने भी पुलिस को खबर नहीं दी। थानेदार मुकेश वर्मा ने घटना के दिन ही आरोपित चालक अशोक चौहान को गिरफ्तार कर लिया था। इस खबर को एक पेपर छापा था, जिसके बाद पुलिस अफसरों ने संज्ञान लिया और बस की संचालिका भी गिरफ्तार कर ली गई।

संचालिका के बॉडीगार्ड की दबंगई की बात सामने आने के बाद पुलिस अफसर इस पहलू पर छानबीन कर रहे हैं। सूत्रों की मानें तो जल्द ही उसके बॉडीगार्ड को वापस लिया जा सकता है। यह बात प्रकाश में आई थी कि बॉडीगार्ड के दम पर बस कर्मी यात्रियों के साथ मारपीट और दबंगई करते हैं। पीड़ित छात्रों का आरोप था कि चालक ने इटावा में शराब पी और मारपीट करने लगा।

बीते शनिवार को दो सहोदर भाई व दिल्ली के मुखर्जी नगर में रहकर यूपीएससी की तैयारी करने वाले छात्र सुपौल के लिए रवाना हुए। दिल्ली में वे कृष्णा रथ बस में सवार हुए जहां से उन्हें सुपौल आना था। दोनों मधेपुरा जिले के रहने वाले हैं। रास्ते में जब दोनों छात्रों को प्यास लगी तो उन्होंने चालक से बस रोकने को कहा। लेकिन चालक ने इनकार कर दिया। इस बात पर दोनों के बीच बहस हुई। चालक इटावा में ढाबे पर उतरा और शराब पिया। नशे में चूर होने के बाद उसने दोनों भाइयों को बेरहमी से पीटा। दिल्ली से पटना तक के रास्ते में चालक बेरहमी से दोनों को पीटता रहा। वह मीठापुर में अंजाम भुगतने की धमकी दे रहा था।

Leave A Reply

Your email address will not be published.