छत्तीसगढ़: निजी स्कूलों को भी मिलेगा महतारी दुलार योजना का लाभ  

छत्तीसगढ़ के निजी स्कूलों में पढ़ने वाले अनाथ बच्चों को भी महतारी दुलार योजना का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज इसकी घोषणा करते कहा, निजी स्कूलों में पढ़ने वाले जिन बच्चों ने अपने माता-पिता/अभिभावकों को कोविड-19 के कारण खो दिया हैं, उन्हें सरकार द्वारा मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी। महतारी दुलार योजना के तहत ऐसे बच्चों की पढ़ाई का खर्च छत्तीसगढ़ सरकार वहन करेगी।छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना 2021 शैक्षणिक सत्र 2021-22 से लागू है।

0 24

- Advertisement -

 

desh digital

रायपुर| छत्तीसगढ़ के निजी स्कूलों में पढ़ने वाले अनाथ बच्चों को भी महतारी दुलार योजना का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने आज इसकी घोषणा करते कहा, निजी स्कूलों में पढ़ने वाले जिन बच्चों ने अपने माता-पिता/अभिभावकों को कोविड-19 के कारण खो दिया हैं, उन्हें सरकार द्वारा मुफ्त शिक्षा प्रदान की जाएगी। महतारी दुलार योजना के तहत ऐसे बच्चों की पढ़ाई का खर्च छत्तीसगढ़ सरकार वहन करेगी।छत्तीसगढ़ महतारी दुलार योजना 2021 शैक्षणिक सत्र 2021-22 से लागू है।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री बघेल ने कहा, ‘ऐसे बच्चों के पास या तो उसी निजी स्कूल में अपनी शिक्षा जारी रखने का विकल्प होगा, जहां वे पिछले एक साल से पढ़ रहे हैं या वे स्वामी आत्मानंद इंग्लिश मीडियम स्कूल में जा सकते हैं। राज्य सरकार उनकी स्कूल फीस वहन करेगी।

राज्य सरकार ने सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले उन बच्चों को मुफ्त शिक्षा और मासिक छात्रवृत्ति प्रदान करने के लिए महतारी दुलार योजना शुरू की है, जिन्होंने अपने माता-पिता/अभिभावकों को कोविड-19 संक्रमण के कारण खो दिया है।
अब मुख्यमंत्री ने घोषणा की है कि सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के साथ-साथ निजी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को भी महतारी दुलार योजना का लाभ मिलेगा।

इस योजना के तहत विद्यार्थियों को कक्षा एक से आठ तक 500 रुपये प्रतिमाह तथा कक्षा नौ से 12 तक एक हजार रुपये प्रतिमाह छात्रवृत्ति दी जाएगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.