अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में 2 और नवजात की मौत, स्वास्थ्य अमले में हड़कंप, स्वास्थ्य मंत्री पहुंचे 

छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिला मुख्यालय स्थित अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में आज रविवार को 2 और नवजात शिशुओं  की मौत हो गई | 30 घंटे के भीतर 6 नवजात की मौत से  स्वास्थ्य अमले  में हड़कंप है। इधर दिल्ली में अपना कार्यक्रम रद्द कर चार्टर्ड प्लेन से  पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव सीधे अस्पताल पहुंचे|

0 14

अम्बिकापुर| छत्तीसगढ़ के सरगुजा जिला मुख्यालय स्थित अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में आज रविवार को 2 और नवजात शिशुओं  की मौत हो गई | बता दें शनिवार अलसुबह 4 घंटे के अंदर 4 नवजात बच्चों की मौत हो गई थी| इस तरह  30 घंटे के भीतर 6 नवजात की मौत से  स्वास्थ्य अमले  में हड़कंप मच गया  है। इधर दिल्ली में अपन कार्यक्रम रद्द कर चार्टर्ड प्लेन से  पहुंचे स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव सीधे अस्पताल पहुंचे|

नगरीय प्रशासन विकास एवं श्रम मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. शिव कुमार डहरिया मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देश पर प्रभारी मंत्री शिवकुमार डहरिया अम्बिकापुर दौरे पर हैं। प्रभारी मंत्री ने कलेक्टर, मुख्य स्वास्थ्य व चिकित्सा अधिकारी, मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक की आपात बैठक बुलाई है। मेडिकल कॉलेज अंबिकापुर में निरीक्षण  के बाद  अफसरों की बैठक भी लेंगे |

आज  रविवार को अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज में  भर्ती 2 और नवजात शिशुओं की मौत  किस कारण हुई है, अभी साफ नहीं हो पाया है|

- Advertisement -

इधर दिल्ली में मौजूद छत्तीसगढ़ के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंह देव  कल नवजात शिशुओं की मौत की खबर मिलते ही  अपना  कार्यक्रम रद्द करते हुए आज चार्टर्ड प्लेन से अंबिकापुर दरिमा एयरपोर्ट पहुंचे। यहां से वह सीधे अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज पहुंचे और निरीक्षण  किया ।

बता दें  मेडिकल कॉलेज अस्पताल  के  एसएनसीयू में भर्ती 4 नवजात बच्चों की शनिवार 16 अक्टूबर की अलसुबह मौत से हडकंप मच गया था। बच्चों की मौत से आक्रोशित उनके परिजनों ने डॉक्टरों व नर्सी पर लापरवाही का आरोप लगाकर हंगामा मचाया था। इस दौरान अस्पताल के सामने चक्काजाम की स्थिति निर्मित हो गई थी।

यह खबर सुनते ही दो दिवसीय प्रवास पर दिल्ली गए स्वास्थ्य मंत्री ने कार्यक्रम रद्द कर अंबिकापुर पहुँचे और सीधे मेडिकल कॉलेज अस्पताल का निरीक्षण किया । उन्होंने चिकित्सकों से इस घटना की पूरी जानकारी प्राप्त की।

इस दौरान डीन, मेडिकल कॉलेज अधिक्षक, जेडी स्वास्थ्य सहित हॉस्पिटल के चाईल्ड स्पेशलिस्ट एवं अन्य चिकित्सक उपस्थित रहे। नवजात शिशुओं  की मृत्यु से जुड़े इस मामले को गंभीरता को देखते हुए स्वास्थ्य मंत्री श्री टी एस सिंहदेव जी ने बिलासपुर और रायपुर से स्वास्थ्य विभाग की विशेष टीम को अंबिकापुर पहुँचने के लिए निर्देशित भी किया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.