प्रेमी ने जहाँ खुदकुशी की वहीँ प्रेमिका ने भी मौत को गले लगा लिया

अलग-अलग जगह शादी के बाद भी प्रेमी जोड़ा एक दूसरे को भुला न पाया | चार  दिन पहले प्रेमी ने जहाँ खुदकुशी की वहीँ प्रेमिका ने भी मौत को गले लगा लिया | घटना सरगुजा जिला मुख्यालय से लगे केपी गाँव की है

0 28

अंबिकापुर | अलग-अलग जगह शादी के बाद भी प्रेमी जोड़ा एक दूसरे को भुला न पाया | चार  दिन पहले प्रेमी ने जहाँ खुदकुशी की वहीँ प्रेमिका ने भी मौत को गले लगा लिया | घटना सरगुजा जिला मुख्यालय से लगे केपी गाँव की है | पुलिस ने मौके से सुसाइड नोट भी बरामद किया है|

पुलिस के मुताबिक आज सुबह सविता नामक विवाहिता युवती की लाश उसके घर के पास मोबाइल टावर पर फंदे पर लटका मिला | सविता के प्रेमी अमितेश ने 4 दिन पहले इसी जगह  फांसी लगाकर जान दी थी।

सविता के सुसाइड नोट में भी परिजनों के समझाने की भी बात है। उसने लिखा है कि मेरा सब कुछ जब खत्म हो गया है तो अब जीकर क्या करूंगी? इसलिए आत्महत्या कर रही हूं। साथ ही सुसाइड नोट में परिजनों से माफी मांगी है।

- Advertisement -

बताया जाता है कि एक ही गाँव के रहने वाले सविता और अमितेश अलग-अलग जात बिरादरी के थे | दोनों का प्रेम सम्बन्ध उनके परिजनों को मंजूर नहीं था | वे उन दोनों की शादी के खिलाफ थे |

5 बरस पहले सविता की शादी दूसरी जगह  कर दी गई | लेकिन कुछ दिनों बाद ही वह मायके में आकर रहने लगी | उसका अमितेश से मिलना जुलना जारी रहा | 6 महीने पहले  अमितेश के परिजनों ने उसकी शादी दूसरी युवती से कर दी | दोनों शादीशुदा होते हुए भी मिलते रहे |

4 दिन पहले  अमितेश मोबाइल टावर पर चढ़कर सविता के सामने फांसी लगा ली। सविता ने पहले अमितेश के घर जाकर उसके परिवार वालों को जानकारी दी  | फिर टावर के पास पहुंच  फांसी लगाने लगी, लेकिन गांवों ने बचा लिया था|

Leave A Reply

Your email address will not be published.