20 लाख के इनामी नक्सली का आंध्रप्रदेश में आत्मसमर्पण

इसके मुत्तानागरी जालंधर रेड्डी उर्फ कृष्ना उर्फ मारणा उर्फ करुणा उर्फ सरथ जैसे कई छद्म नाम

0 3

भुबनेश्वर | आंध्र ओडिशा बॉर्डर स्पेशल जोनल कमेटी (AOBSZC )मेम्बर 20 लाख के इनामी नक्सली ने  आंध्रप्रदेश में आत्म समर्पण कर दिया। इसने ओडिशा के मलकानगिरी कलेक्टर विनिल कृष्णा के अपहरण में प्रमुख भूमिका निभाई थी| वर्ष 2004 में कोरापुट जिला मुख्यालय में पुलिस शस्त्रागार की लूट में भी इसकी मुख्य भूमिका थी ।

यह नक्सली मुत्तानागरी जालंधर रेड्डी उर्फ कृष्ना उर्फ मारणा उर्फ करुणा उर्फ सरथ जैसे कई छद्म नामों से जाना जाता था।

आत्म समर्पण के समय यह आंध्र ओडिशा बॉर्डर स्पेशल जोनल कमेटी (AOBSZC  ) का स्पेशल जोनल कमेटी मेम्बर था।

बताया गया कि छात्र जीवन के दौरान इसका झुकाव नक्सली संगठन की ओर हुआ।1998 में इसने रेडिकल स्टूडेंट यूनियन जॉइन की और लगातार अपनी जघन्य वारदातों की वजह से संगठन में आगे बढ़ता रहा।

इसकी कई बड़ी घटनाओं में सक्रिय संलिप्तता रही। फरवरी 2011 में मलकानगिरी कलेक्टर विनिल कृष्णा के अपहरण में इसकी प्रमुख भूमिका थी।

इसी तरह वर्ष 2004 में कोरापुट जिला मुख्यालय में पुलिस शस्त्रागार की लूट में भी इसकी मुख्य भूमिका थी ।

इसके अलावा पुलिस बल पर हमले के साथ कई पुलिस थानों पर हमले के अपराध भी इसके खिलाफ दर्ज हैं|

आंध्र ओडिशा बॉर्डर स्पेशल जोनल कमेटी (AOBSZC )मेम्बर इस नक्सली पर 20 लाख का इनाम घोषित था|

इसके समर्पण से नक्सली संगठन को काफी बड़ी क्षति माना जा रहा है | इससे पूछताछ में कई अहम खुलासों की उम्मीद भी है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.