26 जून को राजभवनों में धरना देंगे किसान

नए कृषि कानूनों के खिलाफ अपने आंदोलन को तेज करते हुए किसानों ने देश भर के राजभवन में 26 जून को धरना देने की घोषणा की है। बता दें केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध को करीब 200 दिन हो गए हैं|  

0 3

deshdigital 

नई दिल्ली| नए कृषि कानूनों के खिलाफ अपने आंदोलन को तेज करते हुए किसानों ने देश भर के राजभवन में 26 जून को धरना देने की घोषणा की है। बता दें केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों के खिलाफ किसानों के विरोध को करीब 200 दिन हो गए हैं|

संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम)  ने  कहा, 26 जून को किसानों का विरोध प्रदर्शन होगा और काले झंडे दिखाए जाएंगे। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को एक ज्ञापन भी भेजा जाएगा।

वहीँ भारतीय किसान संघ (बीकेयू) के नेता धर्मेंद्र मलिक के मुताबिक 26 जून को कृषि बचाओ, लोकतंत्र बचाओ दिवस” के रूप में मनाया जाएगा।   राजभवन में काले झंडे दिखाकर और हर राज्य में राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन देकर विरोध प्रदर्शन किया जायेगा|
किसान नेताओं के मुताबिक 26 जून को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश में इमरजेंसी लगई थी।  आज भी मोदी सरकार ने देश में अघोषित आपातकाल लगा दिया है।

एसकेएम के मुताबिक किसान लगातार अलग-अलग जगहों पर काले झंडे दिखाकर धरना प्रदर्शन कर रहे हैं। हरियाणा, दिल्ली की सीमाओं पर चल रहे आंदोलन में जहां विभिन्न राज्यों के हजारों किसान शामिल हो रहे हैं। इसी तरह तेलंगाना, आंध्र प्रदेश और बिहार से भी गाजीपुर धरना स्थल पर पहुंचे।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.