छत्तीसगढ़ : 5151 नए कोरोना मरीज़, 4 मौतें

छत्तीसगढ़ में आज 5151 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई| इनमें 4 मरीज OMICRON पीड़ित हैं | वहीं 483 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज/रिकवर्ड हुए।  बीते 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत हुई |

0 49

- Advertisement -

रायपुर | छत्तीसगढ़ में आज 5151 नए कोरोना पॉजिटिव मरीज़ों की पहचान हुई| इनमें 4 मरीज OMICRON पीड़ित हैं | वहीं 483 मरीज़ स्वस्थ होने के उपरांत डिस्चार्ज/रिकवर्ड हुए।  बीते 24 घंटे में 4 मरीजों की मौत हुई |

जारी मेडिकल बुलेटिन के मुताबिक आज प्रदेश भर में हुए  55 हजार 946 सैंपलों की जांच में  से 5151 व्यक्ति कोरोना संक्रमित पाए गए हैं | इनमें 4 मरीज OMICRON पीड़ित हैं | पीड़ितों में प्रदेश  के स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव  भी शामिल हैं |

आज 11 जनवरी की स्थिति में प्रदेश की पाजिटिविटी दर 9.21 प्रतिशत है।

राजधानी  रायपुर कोरोना का हॉटस्पॉट बना हुआ है| यहाँ सबसे ज्यादा 1454 नए मरीज सामने आये | 950 नये  मरीजों के साथ दुर्ग दूसरे स्थान पर है |

नोवेल कोरोना वायरस के संबंध में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी मीडिया बुलेटिन 11 जनवरी 2022..pdf

- Advertisement -

उधर  स्वास्थ्य विभाग ने होम आइसोलेशन में इलाज ले रहे कोरोना संक्रमितों के डिस्चार्ज के संबंध में नए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

संचालक, स्वास्थ्य सेवाएं ने सभी सीएमएचओ को भेजे परिपत्र में कहा है कि कोविड-19 के लक्षण वाले या बिना लक्षण वाले ऐसे मरीज जिनका इलाज एवं स्वास्थ्य की मॉनिटरिंग होम आइसोलेशन में की जा रही है, उन्हें पॉजिटिव पाए जाने की तिथि से कम से कम सात दिनों में, यदि उन्हें अंतिम तीन दिनों (पांचवें, छटवें और सातवें दिन) में बुखार नहीं हो, तो होम आइसोलेशन से छुट्टी दी जा सकती है। डिस्चार्ज के पहले कोरोना जांच की जरूरत नहीं है।

छत्तीसगढ़ में कोरोना से बचाव का पहला टीका लगवाने वालों की संख्या दो करोड़ को पार कर गई है। प्रदेश में पिछले साल जनवरी में कोरोना टीकाकरण की शुरूआत के बाद से अब तक दो करोड़ 40 हजार 129 लोगों को कोरोना वैक्सीन का पहला टीका लगाया जा चुका है।

इनमें 18 वर्ष से अधिक के एक करोड़ 92 लाख 56 हजार 768 नागरिक और 15 से 18 वर्ष के सात लाख 83 हजार 361 किशोर शामिल हैं। दोनों आयु वर्गों में क्रमशः 98 प्रतिशत और 48 प्रतिशत आबादी को पहला टीका लगाया जा चुका है।

राज्य में कोरोना वैक्सीन की पहली, दूसरी और प्रिकॉशन डोज (Precaution Dose) को मिलाकर अब तक (10 जनवरी तक) कुल तीन करोड़ 28 लाख 33 हजार 787 टीके लगाए गए हैं। यहां 18 वर्ष से अधिक की 65 प्रतिशत आबादी को कोरोना से बचाव के दोनों टीके लगाए जा चुके हैं।

इस आयु वर्ग के एक करोड़ 27 लाख 70 हजार 691 नागरिकों ने दोनों टीके लगवा लिए हैं। प्रदेश में 10 जनवरी से दोनों डोज ले चुके स्वास्थ्य कर्मियों, फ्रंटलाइन वर्कर्स और 60 वर्ष से अधिक के लोगों को प्रिकॉशन डोज लगाया जा रहा है। पहले दिन 22 हजार 967 लोगों को प्रिकॉशन डोज लगाया गया है।

कोरोना सक्रंमण से बचाव के लिए बालोद जिले में अब तक कुल दस लाख 93 हजार 339, बलौदाबाजार-भाटापारा में 12 लाख 86 हजार 080, बलरामपुर-रामानुजगंज में नौ लाख 38 हजार 668, बस्तर में नौ लाख 47 हजार 231, बेमेतरा में नौ लाख 21 हजार 354, बीजापुर में दो लाख नौ हजार 232, बिलासपुर में 23 लाख 18 हजार 760, दंतेवाड़ा में तीन लाख 55 हजार 115, धमतरी में दस लाख 17 हजार 979, दुर्ग में 22 लाख 38 हजार 248, गरियाबंद में छह लाख 29 हजार 289, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही में तीन लाख 90 हजार 455, जांजगीर-चांपा में 17 लाख 70 हजार 503 और जशपुर में दस लाख 25 हजार 173 टीके लगाए जा चुके हैं।

कबीरधाम जिले में कोरोनारोधी टीके की पहली, दूसरी और प्रिकॉशन डोज को मिलाकर नौ लाख 71 हजार 457, कांकेर में नौ लाख 67 हजार 424, कोंडागांव में छह लाख 94 हजार 517, कोरबा में 13 लाख 88 हजार 363, कोरिया में सात लाख 93 हजार 337, महासमुंद में 16 लाख 84 हजार 768, मुंगेली में सात लाख 275, नारायणपुर में एक लाख तीन हजार 623, रायगढ़ में 24 लाख 49 हजार 819, रायपुर में 33 लाख 94 हजार 520, राजनांदगांव में 21 लाख 11 हजार 165, सुकमा में दो लाख 80 हजार 732, सूरजपुर में नौ लाख 75 हजार 053 तथा सरगुजा में 11 लाख 77 हजार 308 टीके अब तक लगाए गए हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.