बस्तर में पैसेंजर ट्रेन गिराने की नक्सली साजिश नाकाम

चालक की सतर्कता से 35 यात्री बाल बाल बचे

0 0

बस्तर| बस्तर के दंतेवाड़ा में  नक्सलियों पैसेंजर ट्रेन गिराने की बड़ी साजिश रची थी मगर ट्रेन पायलट की सूझबूझ से एक बड़ा हादसा टल गया| नक्सलियों ने  दंतेवाडा के नेरली और बचेली के बीच जंगल में करीब 40 फिट ऊपर बनी ब्रिज के ऊपर पटरी काट दी थी ताकि ट्रेन नीचे गिर जाये मगर वे अपने नापाक मनसूबे में कामयाब नहीं हो पाये|

बस्तर में प्रतिदिन किरंदुल से विशाखापत्तनम के बीच पेसेंजर ट्रेन संचालित होती है|

शुक्रवार की शाम विशाखापत्तनम से जगदलपुर पहुँचने के बाद ट्रेन किरंदुल के लिये शाम को रवाना हुई करीब 7:30 बजे पैसेंजर नेरली और बचेली के बीच जंगल मे पहुँची तो ट्रेन पायलट को लगा कि पटरी में कुछ गड़बड़ी है |

उन्होंने फौरन ब्रेक लगा दी फिर भी एक इंजन और बोगी डिरेल हो गई|

गनीमत रही कि ट्रेन पुल के निचे 40 फीट खाई में नही गिरी वर्ना बड़ा हादसा हो सकता था|

घटना के वक्त ट्रेन में 35 यात्री और 4 क्रू मेंबर सवार थे|

नक्सलियों ने पटरी पर कई पर्चे और बैनर टांगे है जिमसें 26 अप्रैल को भारत बंद का आह्वान किया गया है|

रात में ही सभी बोगियों को दूसरे इंजन के माध्यम से निकटतम स्टेशन से खींच कर ले जाया गया|

दंतेवाडा एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर तुरंत थाने से बल भेजा गया और क्रू मेंबर सहित सभी 35 यात्रियों को सुरक्षित निकाल लिया गया|

उन्होंने बताया कि नक्सलियों ने ब्रिज के ऊपर दोनों तरफ और पुल के आखिर में पटरी काटी थी उनका मकसद ट्रेन को डिरेल कर बड़े हादसे को अंजाम देने का था पर वे कामयाब नहीं हो पाए| वक्त रहते पायलेट ने ब्रेक लगा दी जिससे बड़ा हादसा टल गया|

फिलहाल रेल्वे द्वारा पटरी मरम्मत का कार्य शुरू कर दिया गया है|

बता दें नक्सली इसके पहले भी अक्सर मालगाड़ियों को निशाना बनाते रहे हैं|

हल ही में बीजापुर नक्सल  हमले के 18 दिन बाद नक्सलियों ने जवानों पर हवाई हमले  का आरोप लगाया था। नक्सलियों ने एक बयान जारी कर बताया कि सुरक्षा बलों ने बीजापुर में ड्रोन से 12 बम गिराए हैं।   ब्लास्ट के बाद जमीन में हुए गड्ढों की तस्वीरें जारी की हैं।नक्सलियों ने पुलिस से मध्यस्थो को वह जगह दिखने की बात भी कही है|

इधर पुलिस विभाग की ओर से ऐसी किसी भी एयरस्ट्राइक की बात नहीं कही गई| बस्तर आई जी ने इन आरोपों को बेबुनियाद कहते ख़ारिज कर दिया है|

Leave A Reply

Your email address will not be published.