छत्तीसगढ़ कांग्रेस में भी सब कुछ ठीक नहीं

पंजाब,मध्यप्रदेश और राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ कांग्रेस में भी गड़बड़ उभर आया है | छत्तीसगढ़ कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं है| विधानसभा सत्र के ठीक पहले सरगुजा संभाग के कांग्रेस के रामानुजगंज विधायक व सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष बृहस्पति सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव के ख़िलाफ़ हत्या करवाने की आशंका, जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं| बृहस्पति सिंह के आरोप के बाद सियासी हलचल तेज हुई, इसी बीच कांग्रेस के 19 विधायक एक विधायक के घर एक साथ दिखे | इन विधायकों में टी.एस. सिंहदेव के प्रभाव वाले क्षेत्र के भी थे|

0 177

- Advertisement -

 deshdigital 
पंजाब,मध्यप्रदेश और राजस्थान के बाद अब छत्तीसगढ़ कांग्रेस में भी गड़बड़ उभर आया है | छत्तीसगढ़ कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं है| विधानसभा सत्र के ठीक पहले सरगुजा संभाग के कांग्रेस के रामानुजगंज विधायक व सरगुजा विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष बृहस्पति सिंह ने स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव के ख़िलाफ़ हत्या करवाने की आशंका, जैसे गंभीर आरोप लगाए हैं| बृहस्पति सिंह के आरोप के बाद सियासी हलचल तेज हुई, इसी बीच कांग्रेस के 19 विधायक एक विधायक के घर एक साथ दिखे | इन विधायकों में टी.एस. सिंहदेव के प्रभाव वाले क्षेत्र के भी थे|

बृहस्पति सिंह ने अंबिकापुर में उनके काफिले पर हुए हमले के बाद कहा था कि पिछले दिनों उन्होंने अंबिकापुर प्रवास के दौरान मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की प्रशंसा की थी और उनके कामकाज को बेहतर बताया था। उन पर हमले का यही कारण हो सकता है।
इसके बाद राजधानी रायपुर में मीडिया के सामने हमले के लिए स्वास्थ्य मंत्री टी. एस. सिंहदेव पर आरोप लगाये |
बता दें बृहस्पति सिंह इसके पहले भी जान से मारने के आरोपों को लेकर मीडिया की सुर्ख़ियों में रहे हैं| वे कलेक्टर रहे एलेक्स पाल मेनन और रामविचार नेताम पर भी इस तरह का आरोप लगा चुके हैं|
रायपुर प्रेस कॉन्फ्रेंस में क्या कहा बृहस्पति सिंह ने-
स्वास्थ्य मंत्री टी.एस. सिंहदेव कुर्सी पाने के लिए उनकी और 4-5 विधायकों की हत्या करवा सकते हैं| ये महाराजा लोग हैं| पहले हमारे पूर्वजों को बांधकर पीटते थे, लेकिन आज ये सब नहीं कर पाएंगे| हम लोग जागरूक हो गए हैं| ऐसे मंत्री जो इस तरह की साजिश कर रहे हों उनको मंत्रिमंडल से हटा देना चाहिए|

- Advertisement -

 
छत्तीसगढ़ की 90 में से 70 पर काबिज होकर सत्ता में आई कांग्रेस क्या बाहर से ही मजबूत दिख रही है इस पर भी सवाल भी उठने शुरू हो गये हैं | सोशल मीडिया पर ढेरों कमेन्ट सामने आ रहे हैं| चर्चाओं का दौर शुरू हो गया है|
आखिर क्यों हमले का जो मामला आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद शांत हो गया था वह कैसे उनके राजधानी रायपुर आते ही फिर से गरम हो गया | एक तरह से शक्ति प्रदर्शन की नौबत क्यों आन पड़ी | इतना ही नहीं सभी विधायकों ने फ़ोटो सेशन करवाया और सभी विधायक दल की बैठक में सीएम हाउस के लिए रवाना हो गए|
क्या अब स्वास्थ्य मंत्री के खिलाफ लामबंदी शुरू हो गई है ? इस आरोप के बाद सिंहदेव क्या कदम उठाएंगे ?
उधर विधायक दल की बैठक के बाद जिसने आरोप लगाये उसी के साथ तस्वीर भी साथ बाहर निकली, आखिर मंत्री जी चुप क्यों हैं ? 

टी.एस. सिंहदेव ने कहा-
सीएम हाउस की बैठक में प्रदेश प्रभारी पी. एल.पुनिया भी मौजूद थे| बैठक के बाद स्वास्थ्य मंत्री ने मीडिया के सवालों पर कहा- विधायक दबाव में भावना में ऐसा बोल गए हैं| पार्टी फोरम की बातचीत है इस पर ज्यादा नहीं बोलूंगा| ढाई-ढाई साल मुख्यमंत्री के फ़ॉर्मूले पर  टिप्पणी से इंकार कर दिया |
बहरहाल सीएम भूपेश बघेल की प्रतिक्रिया सामने नहीं आई है जिस पर मीडिया की निगाहें हैं| यह ताजा घटनाक्रम इशारा करता है, छत्तीसगढ़ कांग्रेस में सब कुछ ठीक नहीं है , विद्रोह की एक चिंगारी सुलगी हुई है |

Leave A Reply

Your email address will not be published.