जिला पंचायत सदस्य की नक्सल हत्या

बीजापुर में  कांग्रेस के किसी जनप्रतिनिधि की नक्सलियों द्वारा यह पहली हत्या

0 2

बीजापुर|   जिला पंचायत सदस्य बुधराम कश्यप की नक्सलियों ने बेरहमी से हत्या कर दी। घटना की जिम्मेदारी नक्सलियों की भैरमगढ़ एरिया कमेटी ने ली है। इधर वारदात के बाद बीजापुर में नक्सलियों पर पुलिस के बढ़ते दबाब के दावों पर सवाल उठ रहे हैं| इससे पूर्व नक्सली 2009 में भी इसी परिवार के एक सदस्य लक्ष्मण कश्यप की भी हत्या कर चुके है।

मृतक जिलापंचायत सदस्य बुधराम के छोटे भाई गुलशन का कहना है कि रात जब बुधराम भोजन करने की तैयारी में थे, नक्सली उनके घर आ धमके और उन्हें पकड़कर घर से कुछ दूरी पर ही महुए के पेड़ के नीचे लेकर गए।

विरोध करने पर नक्सलियों ने गुलशन को गन पाइंट कर दूर रहने को कहा। इसके बाद बुधराम पर कारपोरेट घराने से तालुक्क रखने, पुलिस सुरक्षा में सड़क निर्माण, लोन वराटू जैसे अभियान में पुलिस का सहयोग करने का आरोप लगाते हुए उसकी आंखों के सामने ही उसकी हत्या कर दी।

जिला पंचायत सदस्य मृतक बुधराम के छोटे भाई गुलशन

घटना स्थल पर नक्सलियों ने पर्चा भी छोड़ा है। इससे पूर्व नक्सली 2009 में भी इसी परिवार के एक सदस्य लक्ष्मण कश्यप की भी हत्या कर चुके है।

बहरहाल सरकार बदलने के बाद बीजापुर में  कांग्रेस के किसी जनप्रतिनिधि की नक्सलियों द्वारा यह पहली हत्या है, ऐसे में सत्ता दल के नेताओ में अपनी सुरक्षा को लेकर जहाँ चिंता बढ़ गयी है, वही नक्सलियों ने वारदात कर सरकार को सीधे तौर पर चुनौती भी दे डाली है ।

बस्तर में पतझड़ के मौसम में नक्सली tcoc का पालन करते है, जिसमे जवानों पर घात लगाने की घटनाएं बड़े पैमाने पर हो चुकी है, बीते दिनों नारायणपुर में जवानों के काफिले पर हमला भी इसका उदाहरण है।

इधर घटना के बाद ना सिर्फ तालनार इलाके में बल्कि स्थानीय जनप्रतिनिधियों में खौफ देखा जा रहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.