छत्तीसगढ़ में मवेशियों के लिए एम्बुलेंस सेवा जल्द

छत्तीसगढ़ में मवेशियों के लिए एम्बुलेंस सेवा जल्द  शुरू होने जा रही है | डायल 112 की तरह मवेशियों को भी एक कॉल पर इलाज की निशुल्क सुविधा मिलेगी |

0 14

रायपुर | छत्तीसगढ़ में मवेशियों के लिए एम्बुलेंस सेवा जल्द  शुरू होने जा रही है | डायल 112 की तरह मवेशियों को भी एक कॉल पर इलाज की निशुल्क सुविधा मिलेगी | छत्तीसगढ़ के हर ब्लॉक में 1 एम्बुलेंस तैनात किया जायेगा | इस योजना पर साढें 58 करोड़ की लागत आएगी |

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक हाईटेक कॉल  सेंटर स्थापित किया जायेगा | इस योजना  के तहत मवेशियों को विशेषज्ञ डॉक्टरों से प्राथमिक उपचार की सुविधा मुहैय्या कराई जाएगी। सड़क हादसे में जख्मी मवेशियों का भी इलाज किया जायेगा |

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक छत्तीसगढ़ सरकार जिस तरह से प्रदेशवासियों के लिए संजीवनी 108 और 104 आरोग्य सेवा  सुविधा उपलब्ध कराती है। उसी प्रकार से मवेशियों के लिए के लिए भी राज्य  में 163 एम्बुलेंस चलाई जाएगी। छत्तीसगढ़ के हर ब्लॉक में 1 एम्बुलेंस तैनात किया जायेगा|

इस सेवा से सड़क हादसे में घायल होने की सूचना मिलने पर मौके पर जाकर मवेशियों का प्राथमिक इलाज करेगी और आपात स्थिति में  मवेशियों को  नजदीकी पशु चिकित्सालय में ले जाकर इलाज कराया जायेगा | इस योजना से  छत्तीसगढ़  के 1 करोड़ 60 लाख पशुधन को इसका लाभ मिलेगा|

- Advertisement -

छत्तीसगढ़ के राष्ट्रीय राजमार्गों  (NH ) में  आवारा मवेशी हादसों का सबब बने हुए हैं |  NH पर वाहनों के तेज रफ़्तार होने के कारण पशुओं को ही नहीं इन्सान को भी जान गंवानी पड़ती है |

पढ़ें: राष्ट्रीय राज मार्ग 53 में मवेशियों का डेरा, हादसे बढ़े

खासकर रात को सफर करना खतरनाक है।  रात को वाहन चालकों को मवेशियों के बैठे रहने से वाहन चलाने में परेशानी होती है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.