माओवादियों के कमांडर हिड़मा के गाँव में 5 जवान शहीद

छत्तीसगढ़ के  बस्तर के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में मुठभेड़ में 5 जवान के शहीद  होने की खबर

0 26

- Advertisement -

बीजापुर| माओवादियों के बटालियन कमांडर हिड़मा के गाँव में हमले में 5 जवान शहीद हो गये| एक माओवादी का शव बरामद होने की सूचना है| मुठभेड़ में हताहत जवानों की संख्या बढ़ सकती है|

छत्तीसगढ़ के  बस्तर के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में मुठभेड़ में 5 जवान के शहीद  होने की खबर है|

मिली जानकारी के अनुसार बीजापुर,सुकमा सीमा के तरेम थानाक्षेत्र के जोन्नागुड़ा में यह मुठभेड़ हुआ।

एंटी नक्सल आपरेशन पर  STF, DRG, CRPF और कोबरा के करीब 400 जवान निकले थे।

जोन्नागुड़ा माओवादियों के बटालियन कमांडर हिड़मा का गांव माना जाता है पिछले 15 दिनों से नक्सलियों का जमावाड़ा था|

घटनास्थल के लिए बैक पार्टी को रवाना किया गया है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी घटना पर अपनी नज़र बनाये हुए हैं|

बताया गया कि तररेम के लिए 9 एम्बुलेंस भेजे गए हैं।

इधर बीजापुर पहुंचे दो  MI-17 हेलीकाप्टर से जवान घटनास्थल से तररेम थाना के लिए रवाना हो चुके हैं।

एक पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि  अभी कुछ भी कहना जल्दबाजी होगी| पुलिस बल को बड़े नुकसान की खबर मिल रही है।

- Advertisement -

बता दें माओवादियों द्वारा  टीसीओसी (टैक्टिकल काउंटर ऑफेंसिव्ह केम्पेन) में बड़ी वारदात किये जाते रहे हैं| अभी  23 मार्च को नारायणपुर जिले में  जवानों से भरी बस में ब्लास्ट कर दिया। इस हमले में 5 जवान शहीद हो गए थे, जबकि 14 घायल हुए थे।

टीसीओसी में अब तक के बड़े हमले

06 अप्रैल 2010 में ताड़मेटला हमले में सीआरपीएफ के 76 जवानों की शहादत ।

25 मई 2013 झीरम घाटी हमले में 30 से अधिक कांग्रेसी व जवान शहीद ।

11 मार्च 2014 को टहकवाड़ा हमले में 15 जवान शहीद ।

12 अप्रैल 2015 को दरभा में यदे एम्बुलेंस । 5 जवानों सहित ड्राइवर व एएमटी शहीद ।

मार्च 2017 में भेज्जी हमले में 11 सीआरपीएफ जवान शहीद ।

06 मई 2017 को सुकमा के कसालपाड़ में किया घात लगाकर हमला जिसमें 14 जवान शहीद ।

25 अप्रैल 2017 को सुकमा के बुरकापाल बेस केम्प के समीप किये नक्सली हमले में 32 सीआरपीएफ जवान शहीद ।

21 मार्च 2020 को सुकमा के मिनपा हमले में 17 जवानों की शहादत ।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.