कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय में ’मूल्य वर्धित पाठ्यक्रम’ का समापन

कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय भिलाईनगर के ’कला संकाय’ के ’मूल्य वर्धित पाठ्यक्रम’ 2021-22 का समापन समारोह श्रीमती पद्मिनी भोई साहू, अपर कलेक्टर, दुर्ग (छग शासन) के मुख्य आतिथ्य एवं डॉ. संतोष जैन, प्राचार्य की अध्यक्षता में  आज 7 मार्च सोमवार को  सम्पन्न हुआ।

0 341

- Advertisement -

भिलाई| कल्याण स्नातकोत्तर महाविद्यालय भिलाईनगर के ’कला संकाय’ के ’मूल्य वर्धित पाठ्यक्रम’ 2021-22 का समापन समारोह श्रीमती पद्मिनी भोई साहू, अपर कलेक्टर, दुर्ग (छग शासन) के मुख्य आतिथ्य एवं डॉ. संतोष जैन, प्राचार्य की अध्यक्षता में  आज 7 मार्च सोमवार को  सम्पन्न हुआ।

’राज्य सेवा परीक्षाओं के लिए तैयारियां’ विषय पर 30 घंटे के इस ’मूल्य वर्धित पाठ्यक्रम’ में पिछले 15 दिनों तक विभिन्न प्राध्यापकों द्वारा कक्षाएं ली गईं। कक्षाएं 17 फरवरी से प्रारंभ हुईं थीं, जिसका आज समापन हुआ।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि श्रीमती पद्मिनी भोई साहू, अपर कलेक्टर दुर्ग ने अपने उद्बोधन में विद्यार्थियों को बताया कि केवल कोचिंग के भरोसे रहने के बजाय स्वअध्ययन अधिक महत्वपूर्णं है। जितना अधिक अध्ययन करेंगे, लिखने की क्षमताओं का उतना अधिक विकास होता है। अधिक से अधिक किताबें पढ़कर अपनी विचारशक्ति, अभिव्यक्ति क्षमता को विकसित कर सकते हैं। राज्य सेवाओं की नियुक्तियों में इस समय अवसर लगातार बढ़ते जा रहे हैं। अपनी तैयारियां रखें और आगे बढ़ें।

- Advertisement -

अध्यक्षीय उद्बोधन में महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. संतोष जैन ने मूल्य वर्धित पाठ्यक्रमों की महत्ता बताते हुए बताया कि आज प्रतिस्पर्धा का समय है और केवल डिग्रियों के दम पर अच्छी नौकरी मिलना कठिन होता जा रहा है, इसलिए अपनी डिग्रियों के साथ अतिरिक्त हुनर होनी जरूरी है।

कार्यक्रम में सबसे पहले महाविद्यालय के उप-प्राचार्य डॉ. आर.पी. अग्रवाल ने स्वागत उद्बोधन देते हुए विद्यार्थियों को लक्ष्य बनाकर दृढ़ता पूर्वक आगे बढ़ने की बात कही। गलाकाट प्रतिस्पर्धा के दौर में लक्ष्य पर निगाह बनाकर कठिन परिश्रम करने से ही सफलता मिलती है।

इस समारोह में 27 प्रतिभागियों को पुरस्कार एवं प्रमाण पत्र वितरण वितरित किये गये, तथा 9 विद्यार्थियों को विशेष पुरस्कार स्वरूप 3-3 किताबों का सेट प्रदान किया गया।

कार्यक्रम कासंचालन डॉ. लखन चौधरी ने तथा आभार प्रदर्शन आईक्यूएसी समन्वयक डॉ. सुधीर शर्मा ने किया। इस अवसर पर कला संकाय के संकाय प्रभारी डॉ एनएस पटेल, डॉ. विनय शर्मा, श्री अनुराग पाण्डेय, डॉ सलीम अकील, डॉ. केएन दिनेश, डॉ आरके ठाकुर, डॉ. मणीमेखला शुक्ला, डॉ फिरोजा अली, डॉ अजय सिंह, मजहर खान, श्रीमती अरूणा चौबे, अजय साहू सहित महाविद्यालय के प्राध्यापकगण उपस्थित रहे। जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी महाविद्यालय के ’मूल्य वर्धित पाठ्यक्रम’ के प्रभारी डॉ. लखन चौधरी ने  दी ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.