मंदिर से तीन लाख के गहने चोरी, कुख्यात चोर की हत्या

झारखण्ड के निरसा भलजोरिया की खुदिया नदी के किनारे श्मशान घाट स्थित मां भवतारिणी मंदिर में चोरों ने मां काली की प्रतिमा से लाखों के गहने चुरा लिए। मंदिर के पास खुदिया नदी में कुख्यात चोर कमल साव का लहूलुहान शव बरामद किया गया है।

0 30

- Advertisement -

रांची| झारखण्ड के निरसा भलजोरिया की खुदिया नदी के किनारे श्मशान घाट स्थित मां भवतारिणी मंदिर में चोरों ने मां काली की प्रतिमा से लाखों के गहने चुरा लिए। जेवरात की कीमत करीब तीन लाख रुपए बताई जा रही है। मंदिर के पास खुदिया नदी में कुख्यात चोर कमल साव का लहूलुहान शव बरामद किया गया है।

पुलिस चोरी और शव की मिस्ट्री सुलझाने में जुटी है। आशंका है कि चोरी किए गए गहनों के बंटवारे को लेकर साथियों ने ही कमल की हत्या कर दी। पुलिस फिलहाल दो संभावनाओं पर जांच कर रही है। पुलिस मान रही है कि चोरी के बाद गिरोह के सदस्यों के बीच चोरी के गहनों के बंटवारे को लेकर विवाद हुआ होगा।

इसी विवाद में अन्य चोरों ने कमल की हत्या कर दी होगी। दूसरी आशंका यह भी है कि कमल को किसी ने चोरी करते पकड़ लिया होगा। इसी आक्रोश में पिटाई के कारण उसकी मौत हुई होगी। इन दोनों आशंकाओं के साथ-साथ पुलिस अन्य बिंदु पर भी जांच कर रही है।

पुलिस के अनुसार कमल चोरी की कई  घटनाओं में शामिल रह चुका है। वह कई बार जेल भी गया है। चोरी के कई मामलों में वह वांछित था। खबर मिलते ही ग्रामीणों की भीड़ घटनास्थल पर उमड़ पड़ी। पुलिस टीम भी घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की छानबीन शुरू की। कमल साव का शव पोस्टमार्टम के लिए धनबाद भेज दिया गया।

- Advertisement -

मंगलवार की सुबह पांच बजे मंदिर की देखरेख करने वाले असीम पाल और स्वपन गोराईं जब मंदिर पहुंचे तो देखा कि मंदिर में लाईट जल रही थी। पंखा भी चल रहा था। मंदिर का गेट बंद था लेकिन ताले टूटे हुए थे।

उन्होंने बताया कि मंदिर में लगे छह ताले तोड़ कर चोर अंदर घुसे थे। चोरों ने मां काली की प्रतिमा से गले से तीन सोने की हार, एक कानबाली, एक झुमका के अलावा मंदिर की आलमारी तोड़ कर 10 हजार रुपए नकद, सोने की चार बिंदिया चोरी कर ली।

मंदिर से सटे निमार्णाधीन शिव मंदिर के पास खून के धब्बे मिले हैं। मंदिर की चाहरदीवारी पर भी खून के छींटे हैं। निमार्णाधीन मंदिर से किसी को घसीटने का निशान भी मिला है। ऐसा प्रतीत होता है कि कमल साव के साथ इसी जगह पर मारपीट की गई होगी। हालांकि फोरेंसिक जांच के बाद ही सबकुछ स्पष्ट हो पाएगा। हत्यारों ने सोचा होगा कि शव नदी में बह कर कहीं और चला जाएगा।

निरसा थाना प्रभारी पुलिस सुभाष सिंह ने कहा, ‘नदी से जिसका शव बरामद किया है, वह कई चोरी के कांडों में वांछित था। पास की मंदिर में चोरी की भी वारदात हुई है। पुलिस पता लगा रही है कि मंदिर की चोरी और नदी में मिले शव के क्या कनेक्शन हैं। चोरों के आपसी विवाद के बिंदु पर भी जांच हो रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद सभी बिंदुओं पर जांच होगी।’

Leave A Reply

Your email address will not be published.