हंगामा : 12 सांसद शीतकालीन सत्र से बाहर, इनमें छत्तीसगढ़ की 2 सांसद

 राज्यसभा में बीते 11 अगस्त को हुए हंगामे में कार्यवाही करते हुए 12 सदस्यों को शीतकालीन सत्र की कार्यवाही में भाग लेने से रोक दिया गया है। इन सांसदों में छत्तीसगढ़ से कांग्रेस से फूलो देवी नेताम और  छाया वर्मा भी शामिल हैं |

0 22

नई दिल्ली|  राज्यसभा में बीते 11 अगस्त को हुए हंगामे में कार्यवाही करते हुए 12 सदस्यों को शीतकालीन सत्र की कार्यवाही में भाग लेने से रोक दिया गया है। इनमे सीपीआई से एक,सीपीएम से एक, कांग्रेस से छ, टीएमसी से दो और शिवसेना से दो सदस्य शामिल हैं।

इन सांसदों में छत्तीसगढ़ से कांग्रेस से फूलो देवी नेताम और  छाया वर्मा भी शामिल हैं |

- Advertisement -

बता दें बीते 11 अगस्त को जबकि राज्यसभा की सत्र कार्यवाही का अंतिम दिन था तो बीमा संबंधी विधेयक को पारित करने के दौरान विपक्ष ने हंगामा किया था, हंगामा इस कदर था कि मार्शल का उपयोग किया गया था। विपक्ष के हंगामे के इस तरीक़े की कटु आलोचना हुई थी।

जिन सदस्यों को   निलंबित कर दिया गया है उनमें एलामरम करीम, फूलो देवी नेताम, छाया वर्मा, रिपून बोरा, बिनॉय विश्वम, राजमनी पटेल, डोला सेन, शांता छेत्री, सैयद नासिर हुसैन,प्रियंका चतुर्वेदी, अनिल देसाई और अखिलेश प्रसाद सिंह शामिल हैं।

कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल ने 12 सांसदों को शीतकालीन सत्र से सस्पेंड करने पर कहा , सरकार की केवल ये मानसिकता है कि विपक्ष के ऊपर किसी तरह से वार करो और इनको मालूम है कि अगर वो इस तरह निलंबित करेंगे तो निश्चित रूप से विपक्ष इसका विरोध करेगी और फिर सदन नहीं चलेगा। वो यही चाहते हैं कि सदन न चले|

Leave A Reply

Your email address will not be published.