माहुलकोट सरपंच-सचिव पर भ्रष्टाचार का आरोप,  ग्रामीण लामबंद

केंद्र और राज्य सरकार द्वारा संयुक्त राशि 14वें वित्त मद  की माहुलकोट सचिव द्वारा  बंदरबांट करने के खिलाफ ग्रामीण लामबंद दिखाई पड़ रहे हैं। तभी 15 वें वित्त मद की  राशि को  आहरण पर रोक की मांग

0 92

देवभोग| केंद्र और राज्य सरकार द्वारा संयुक्त राशि 14वें वित्त मद  की माहुलकोट सचिव द्वारा  बंदरबांट करने के खिलाफ ग्रामीण लामबंद दिखाई पड़ रहे हैं। तभी 15 वें वित्त मद की  राशि को  आहरण पर रोक की मांग किया जा रहा है।  ताकि ग्रामीणों के मंशा अनुरूप साफ सफाई नाली  मरम्मत चांदनी निर्माण जैसे अन्य कार्य कराया जा सके।

सरपंच सचिव ने गाइडलाइन को अनदेखा करते हुए 14वें वित्त मद की राशि में मुनाफा कमाने के लिए सिर्फ और सिर्फ निर्माण कार्य को प्राथमिकता दिया गया  और इसी तरह 15 वे वित्त मद से  सीसी सड़क के नाम पर राशि निकालकर कांटा मारी करते हुए सरकार को चूना लगाने की मामला सामने आया है।

जानकारी अनुसार लुदरू के घर से लक्ष्मी चौक मार्ग तक करीब  तीन लाख से सड़क स्वीकृत कर पैसा निकालने की प्रक्रिया शुरू कर दिया जबकि जमीनी स्तर पर लुदरु घर से लक्ष्मी चौक तक सड़क का  निर्माण नहीं किया है ग्रामीणों की माने तो ना मोटाई ना लंबाई ना मजबूती को ध्यान में रखते करें 90 मीटर सीसी सड़क का निर्माण कराया है ऐसे में गाइडलाइन को दरकिनार कर  15वें वित्त मद की  सांठगांठ कर राशि को  भ्रष्टाचार की बलि चढ़ाने के फिराक पर दिखाई पड़ रहे हैं। क्योंकि  15 वें वित्त की राशि को अपने मनमर्जी  अनुसार एस्टीमेट बनाकर निर्माण कार्य को अंजाम दिया जा रहा है।

ग्रामीणों के अनुसार  सरपंच सचिव द्वारा अपने फायदे के लिए  साफ सफाई सोख्ता गड्ढा चांदनी निर्माण स्वच्छता पेयजल जैसे अन्य कार्य को अनदेखा कर मलाईदार निर्माण कार्य को प्राथमिकता दे रहे हैं शायद यही वजह है कि ग्रामीणों द्वारा 15वें वित्त मद की राशि आहरण पर रोक लगाने की मांग किया जा रहा है क्योंकि ग्रामवासी अव्यवस्थाओं के बीच गुजर बसर करने को मजबूर हैं।

- Advertisement -

हालांकि सरपंच सचिव द्वारा 15वें वित्त मत के तहत अब तक राशि जारी नहीं होने की बात कहकर अपना अपना पल्ला झाड़ लेते हैं।लेकिन 15वें वित्त अंतर्गत आवंटित राशि की आय व्यय जानकारी देने से साफ साफ बच निकलते हैं । मतलब सरकार से आवंटित राशि में से ज्यादातर राशि का आहरण  हो चुका है।  लेकिन  ग्रामीणों के अनुरूप कार्य नहीं होना शासकीय राशि का  बंदरबांट करने की ओर इशारा करता है । शायद यही वजह है  कि ग्रामीणों में पंचायत प्रतिनिधियों के खिलाफ खासी नाराजगी देखने को मिल रहा है। क्योंकि गली मोहल्ला सहित नलकूप में गंदगी का अंबार लगा हुआ है।

लुदरु घर से लक्ष्मी चौक तक सड़क बना था  बनना था लेकिन नहीं बना है-टंकधर नागेश सरपंच ग्राम पंचायत माहुलकोट  

मामले की पूरी जानकारी लिया जाएगा उसके बाद कारवाही की पहल होगा- एम एल मंडावी सीईओ

साभार :देवभोग से टीकम सिंह निषाद की रिपोर्ट

Leave A Reply

Your email address will not be published.