गैस सिलेंडर फटने से लगी आग, तीन साल के मासूम की जिंदा जलकर मौत

झारखंड के खूंटी में घरेलू सिलेंडर फटने से एक तीन वर्षीय शिशु की मौत हो गयी  जबकि आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए है। इनमें चार लोंगों की हालत गंभीर बनी हुई है।

0 93

- Advertisement -

रांची। झारखंड के खूंटी में घरेलू सिलेंडर फटने से एक तीन वर्षीय शिशु की मौत हो गयी  जबकि आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से घायल हो गए है। इनमें चार लोंगों की हालत गंभीर बनी हुई है। बता दें झारखण्ड के खूंटी जिले के घनी आबादी वाले महादेव टोली में गैस रिसाव के कारण एक घर में विस्फोट हो गया। इस हादसे की चपेट में आकर एक तीन साल के मासूम बच्चे की दर्दनाक मौत हो गई। वहीं इस घटना में परिवार के आधा दर्जन लोग गंभीर रूप से झुलस गए।

इनमें  गंभीर रूप से झुलसे 4 लोगों की स्थित नाजुक बनी हुई है। इन सभी को बेहतर इलाज के लिए रांची के रिम्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। इस संदर्भ में स्थानीय लोगों ने बताया कि गैस सिलेंडर में रिसाव और विस्फोट की चपेट में आने वाले सिकंदर लाल का परिवार, रनिया के हरासुक के निवासी हैं और महादेव टोली में उमेश गंझू के मकान में किराए पर रहते थे।

- Advertisement -

 बता दें कि विस्फोट इतना तेज था कि किचन का दरवाजा फट गया। इसके साथ ही किचन से सटे बेडरूम और घर के अन्य सामान विस्फोट में नष्ट हो गए। वहीं इस घटना में 3 वर्षीय मासूम बच्चे शुभम लाल की दर्दनाक मौत हो गई। जबकि परिवार के अन्य छह लोग गंभीर रूप से घायल हुए हैं। बताते चलें कि सिलेंडर ब्लास्ट के कारण गंभीर रूप से झुलसे लोगों में सिकंदर लाल उनकी पत्नी नीलू देवी, बेटा सुमिल लाल, सिकंदर लाल के ससुर सुरेश लाल, स्नेहा कुमारी और शिवांश कुमार शामिल हैं, वहीं घटना में मृत हुए बच्चे का नाम शिवम लाल है।

  धमाका इतना तेज था कि सिलेंडर ब्लास्ट होने के बाद पूरे क्षेत्र में अफरा-तफरी का माहौल हो गया,  इसकी आवाज काफी दूर तक लोगों को सुनाई पड़ी। घटना की सूचना के बाद दमकल गाड़ी आग को बुझाने घटनास्थल पर पहुंची लेकिन संकरी गली होने के कारण घर तक दमकल गाड़ी नहीं पहुंच पाई। कड़ी मशक्कत के बाद स्थानीय लोगों की मदद से आग पर काबू पाया गया।

Leave A Reply

Your email address will not be published.