पहले 35 रुपये लूटे अब 5 रुपये लौटा एहसान जता रही भाजपा : अंकित

खल्लारी विधानसभा के वरिष्ठ कांग्रेसी व ब्लॉक कांग्रेस कमेटी बागबाहरा ग्रामीण के प्रथम अध्यक्ष अंकित बागबाहरा ने  पेट्रोल डीजल की कीमतों पर भाजपा  नेतृत्व केंद्र सरकार पर निशाना  साधते कहा पहले 35 रुपये लूटे अब 5 रुपये लौटा एहसान जता रहे हैं |

0 104

- Advertisement -

पिथौरा| खल्लारी विधानसभा के वरिष्ठ कांग्रेसी व ब्लॉक कांग्रेस कमेटी बागबाहरा ग्रामीण के प्रथम अध्यक्ष अंकित बागबाहरा ने  पेट्रोल डीजल की कीमतों पर भाजपा नेतृत्व केंद्र सरकार पर निशाना  साधते कहा पहले 35 रुपये लूटे अब 5 रुपये लौटा एहसान जता रहे हैं |

पिथौरा क्षेत्र के दौरे के दौरान चर्चा करते हुए कहा  कि वर्तमान समय में हुए 29 विधानसभा उपचुनावों में से 16 में हारने व 3 लोकसभा उपचुनाव में से 2 हारने के बाद पेट्रोल डीजल की कीमतों में केंद्र द्वारा की गई मामूली कमी को महंगाई कम करने जैसे प्रस्तुत कर रही है।जबकि अभी भी तेल की कीमतें केंद्र की 300 फीसदी से अधिक ड्यूटी लगाने के कारण है।

अंकित ने   केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र द्वारा पहले 35 रुपये तक कीमत बढ़ा कर लूट की अब उसी में से मात्र 5 रुपये कम कर एहसान जताने की मार्केटिंग का भाजपाई प्रयास है । यह कटौती बढ़ी मॅहगाई के कारण उत्तरप्रदेश की अवश्यसंभावी हार से सिहर कर की गई।

अंकित ने पुनः याद दिलाते हुए बताया कि यूपीए सरकार के समय पेट्रोल में ड्यूटी 9.48 रुपये थी, अब उसे 350 प्रतिशत बढ़ा कर 32 रुपये कर दिया गया, डीजल में 3.56 रुपये थी अब उसे 850 प्रतिशत बढ़ा कर 29 रुपये कर दिया गया और इससे केंद्र द्वारा लगभग 28 लाख करोड़ रुपये का राजस्व गरीबों और मध्यमवर्गीय लोगों से लूट कर प्राप्त किया है ।

आज अंतराष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल की कीमतें 80 डॉलर प्रति बैरल होने के बाद भी कीमतें 100 रुपये से ज्यादा की गईं जबकि यूपीए की कांग्रेस सरकार के समय वही कच्चा तेल 140 डॉलर प्रति बैरल की उच्च कीमत मेँ होने के बाद भी पेट्रोल डीजल की कीमतें 70 रुपये प्रति लीटर के आस पास रही । भाजपा ने आग में घी डालने का काम कोरोना काल में भी कीमतें बढ़ा कर किया ।

- Advertisement -

इसी प्रकार अन्य सामानों की कीमतों में बेतहाशा वृद्धि तीन काले कृषि कानूनों के कारण खाने का तेल 90 से 160,सरसों तेल 100 से 200 रुपये लीटर,गैस 450 थी और सब्सिडी 250 थी अभी सीलेंडर गैस 956 रुपये की कीमत और सब्सिडी मात्र 61 रुपये मिल रही है,घी 390 रुपये से 550 रुपये किलो,अंडा 2 रुपये से 6.50 रुपये में मिल रहा है और ये ऐसी चीजें है जो दैनिक जीवन में सबसे ज्यादा उपभोग की जाती है ।

अंकित ने कहा आज भी छत्तीसगढ़ में पड़ोस के राज्यों से सस्ता वैट है जैसे उड़ीसा में 32 % पेट्रोल में,मध्यप्रदेश में 29%,दिल्ली में 30 %,तेलंगाना और महाराष्ट्र में 26 % वैट है जबकि छत्तीसगढ में 25 % वैट लिया जा रहा है । और छत्तीसगढ़ राज्य सरकार ने विगत 3 सालों से वैट नही बढ़ाया है ।

अंकित ने कहा 70 रुपये के आस पास मिलने वाले पेट्रोल डीजल को अब केंद्र द्वारा 105 से 110 रुपये कर दिया गया था अर्थात लगभग 35 रुपये प्रति लीटर की लूट करने के बाद मात्र 5 रुपये व 10 रुपये की कमी कर एहसान बताने का काम भाजपा कर रही है जिसके लिए उन्हें शर्म आनी चाहिये ।

अंकित ने कहा अं जब जब केंद्र बेसिक कीमत व एक्साइज़ कम करेगी वैसे ही राज्य द्वारा उसपर उस कीमत के बाद वैट लगने के बाद वो अपने आप कम हो जाएगा उदाहरण केंद्र ने पेट्रोल में 5 रुपये कम किया पर छत्तीसगढ़ राज्य में 6.50 रुपये पेट्रोल की कीमतें कम हुई,उसी प्रकार डीजल में 10 रुपये केंद्र ने कम किया पर राज्य में अपने आप 13 रुपये कम हुआ ।

अंकित ने भाजपाईयों से नौटंकी बंद कर मोदी से निवेदन करने कहा कि उन्होंने जितना वैट बढ़ाया है उतना कम करें तो पेट्रोल डीजल पुनः बहुत कम दाम पर मिलने लगेगा । इसी कड़ी में जनहित की सोंच वाले मुख्यमंत्री आदरणीय भूपेश बघेल जी ने कहा कि हमारे राज्य छत्तीसगढ़ में पड़ोसी राज्यों से कम कीमत पर पेट्रोल डीजल मिलेगा जिसके लिए उन्हें जितना साधुवाद दिया जाय उतना कम है ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.