रायपुर : छत्तीसगढ़ के लोगों के लिए संजीवनी का काम कर रही है मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना

देश का पहला राज्य जहां उपचार के लिए मिल रही है 20 लाख रूपए तक की राशि। बोनमेरो एवं लीवर ट्रांसप्लांट के लिए दी जा रही है 12 से 20 लाख रूपए तक की राशि। 30 माह में 2429 मरीजों को मिला मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना का लाभ। योजना के तहत अब तक 43 करोड़ 30 लाख रूपए की दी जा चुकी है स्वीकृति।

0 20

- Advertisement -

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नागरिकों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने और दुर्लभ बीमारियों के इलाज में होने वाले खर्च को बचाने के लिए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की पहल पर 1 जनवरी 2020 से मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना की शुरूआत की गई। इस योजना के अंतर्गत चिन्हित दुर्लभ बीमारियों के लिए राज्य के पात्र परिवारों को अधिकतम 20 लाख रूपए तक के उपचार की सुविधा प्रदान की जा रही है। छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है जो अपने नागरिकों को उपचार के लिए इतनी बड़ी राशि उपलब्ध करा रहा है। इस योजना के पीछे मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की स्वस्थ एवं बेहतर छत्तीसगढ़ के निर्माण की भावना छिपी हुयी है।

मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना का लाभ छत्तीसगढ़ के प्राथमिकता एवं अंत्योदय राशन कार्डधारी परिवार ले सकते हैं। वैसे तो इस योजना का लाभ लेने के लिए शासन की तरफ से नियम तय किए गए हैं, लेकिन यदि कोई पीड़ित इस श्रेणी में नहीं आता है तो मुख्यमंत्री को ऐसे मरीज के लिए विशेष परिस्थितियों में नियमों को शिथिल करने का अधिकार है। ऐसे प्रकरण मुख्यमंत्री सचिवालय के माध्यम से भेजे जाते हैं और प्रकरण पर स्वीकृति मिलने के बाद मरीज को आर्थिक सहायता उपलब्ध करायी जा रही है।

लीवर एवं बोनमेरो ट्रांसप्लांट के लिए दी जा रही है 12 से 20 लाख रूपए तक की राशि

मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के अंतर्गत 1 जनवरी 2020 से लेकर 27 जून 2022 तक 2429 प्रकरणों में लगभग 43 करोड़ 30 लाख रूपए की स्वीकृति प्रदान की जा चुकी है। इनमें बोनमेरो ट्रांसप्लांट के 63 प्रकरणो में प्रति हितग्राही 12 से 20 लाख रूपए तक की स्वीकृति दी गयी है। लीवर ट्रांसप्लांट के 13 प्रकरणों में योजना के तहत प्रति हितग्राही को 18 से 20 लाख रूपए तक की स्वीकृति दी जा चुकी है जबकि किडनी ट्रांसप्लांट के 56 प्रकरण स्वीकृत किए गए हैं जिसमें प्रति प्रकरण 04 से 06 लाख रूपए की स्वीकृति दी गयी है।  इस योजना से लाभांवित हितग्राहियों का कहना है कि मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना उनके लिए संजीवनी का काम कर रही है।

- Advertisement -

मुख्यमंत्री को ट्विट करने के कुछ घंटे के भीतर मिली इलाज के लिए राशि

बलौदाबाजार भाटापारा के रहने वाले रतन लाल यादव ने अपने ट्विटर हैंडल से अपने चार माह के बच्चे के दिल की बीमारी के बारे में बताते हुए मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल को ट्विट किया। इस पर तत्काल सुनवाई करते हुए कुछ घंटे के भीतर ही रतन लाल यादव को उनके चार माह के बच्चे के दिल की बीमार के लिए राशि स्वीकृत की गई। रतन लाल के चार माह के बच्चे के दिल के इलाज के लिए योजना के अंतर्गत 04 लाख रूपए की राशि स्वीकृत की गयी है। इस राशि से रतन लाल ने हैदराबाद में अपने बच्चे की सफल सर्जरी करायी है और डाक्टरों की निगरानी में उसका इलाज जारी है।

तीन माह के अमनदीप साहू का हुआ सफल आपरेशन

जांजगीर चांपा के रहने वाले खेमलाल साहू के तीन माह के बच्चे अमनदीप साहू को दिल की बीमारी थी, उन्होंने इसके लिए मुख्यमंत्री विशेष स्वास्थ्य सहायता योजना के लिए आवेदन दिया। बच्चे की बीमारी की गंभीरता को देखते हुए तुरंत ही 03 लाख 07 हजार रूपए की स्वीकृति प्रदान की गयी। तीन माह के अमनदीप का सफल आपरेशन हुआ और डाक्टरों की  निगरानी में उसका इलाज जारी है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.