छत्तीसगढ़: बुधवार को कोरोना के 5476 नये मरीज ,4 मौतें

छत्तीसगढ़ में आज बुधवार को कोरोना के 5476 नये  मरीज मिले । वही  कोरोना संक्रमित 4 मरीज की मौत हुई है।रायपुर में 1785 मरीज, दुर्ग 800, बिलासपुर में 418 मरीज मिले है। 

0 63

- Advertisement -

रायपुर | छत्तीसगढ़ में आज बुधवार को कोरोना के 5476 नये  मरीज मिले । वही  कोरोना संक्रमित 4 मरीज की मौत हुई है।रायपुर में 1785 मरीज, दुर्ग 800, बिलासपुर में 418 मरीज मिले है।

राजधानी रायपुर  में सबसे ज्यादा 1785 नए मरीज मिले है। बिलासपुर में 418, रायगढ़ में 348, दुर्ग में 800, कोरबा में 403, जांजगीर चांपा में 321, महासमुंद में 16, गरियाबंद में 19, जशपुर में 279, बालोद में 31, बलौदाबाजार में 71, सरगुजा में 221, धमतरी में 46, बस्तर में 49, राजनांदगांव में 214 मरीज मिले हैं।

उधर  स्कूल शिक्षा मंत्री और कोरबा जिले के प्रभारी मंत्री डॉ. प्रेम साय सिंह ने आज अपने निवास कार्यालय से तीसरी लहर में कोविड संक्रमण से बचाव और उपचार के लिए की जा रही तैयारियों की विस्तृत समीक्षा की।

- Advertisement -

वर्चुअल रूप से आयोजित समीक्षा बैठक में मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि कोविड संक्रमण के बचाव एवं उपचार के सभी काम सजगता के साथ किये जाए, जिससे लोगों को त्वरित और बेहतर सुविधा पहुंचाई जा सके। उन्होंने कहा कि कोरोना प्रोटोकाल का पालन करते हुए सभी प्रकार की आर्थिक गतिविधियों का संचालन किया जाए।

दैनिक उपयोग की आवश्यक वस्तुओं की जमाखोरी, मुनाफाखोरी करने वालों पर कड़ी निगरानी भी रखी जाए। डॉ. टेकाम ने कहा कि कोरोना पीड़ितों के उपचार, देखभाल और जनजागरूकता के लिए जिले के स्वयं सेवी संगठनों, जनप्रतिनिधियों, सार्वजनिक कंपनियों एवं व्यापारिक संगठनों का भी सहयोग लिया जाए।

मंत्री डॉ. टेकाम ने कहा कि कोरबा जिले में कोविड संक्रमण को रोकने सतत निगरानी रखी जाएं। जिले में औद्योगिक गतिविधियों की अधिकता होने के कारण बाहर से आने वाले लोगों के कोरोना टेस्ट पर विशेष ध्यान दिया जाए। सीमावर्ती राज्यों और विदेशों से आने वाले लोगों की कोरोना जांच अनिवार्यतः की जाए।

अस्पतालों में कोरोना मरीजों की देखभाल और उपचार के लिए तय किए गए वार्डों में चिकित्सा उपकरणों की जांच कर उन्हें दुरूस्त कर लिया जाए। अस्पतालों में ऑक्सीजन की आपूर्ति सहित सभी आवश्यक व्यवस्था सुनिश्चित कर ली जाए।

डॉ. टेकाम ने कहा कि सार्वजनिक स्थानों जैसे-रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड आदि स्थानों में कोविड जांच के लिए स्वास्थ्य विभाग के मैदानी अमलों को तैनात किया जाए। विदेशों से आने वाले लोगों की सूचना अनिवार्य रूप कोविड नियंत्रण कक्ष को दी जाए।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.