जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं होगी- अमित शाह

ये लड़ाई रुकेगी नहीं बल्कि और गति के साथ आगे बढ़ेगी|

0 0

जगदलपुर| केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि जवानों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाने देंगे| उन्होंने कहा कि मैं देश को और शहीदों के परिजनों को आश्वस्त करता हूं उनकी शहादत व्यर्थ नहीं होगी|

गृह मंत्री शाह ने कहा कि पिछले कुछ सालों में नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंच गई है| इस दुर्भाग्यपूर्ण घटना ने इसे और आगे बढ़ा दिया है” हम दो मकाम और आगे बढ़ गए हैं|

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल और फोर्स के अफसरों के साथ समीक्षा बैठक हुई है| मीटिंग में इस लड़ाई की गति किसी भी तरह से कम न हो ये सुझाव अफसरों ने दिया है| इससे पता चलता है कि जवानों का हौसला कम नहीं है|

मैं देश को आश्वस्त करता हूं कि ये लड़ाई रुकेगी नहीं बल्कि और गति के साथ आगे बढ़ेगी| हम इसे अंजाम तक लेकर जाएंगे| अंत में नक्सलवादियों के खिलाफ हमारी विजय निश्चित है| पिछले 5 से 6 साल के अंदर जितने कैंप अंदर स्थापित करने थे, उसमें हमें सफलता मिली है| इसी झुंझलाहट में ऐसी घटनाएं सामने आती हैं|

 

केंद्रीय गृह मंत्री और मुख्यमंत्री ने पुलिस लाइन जगदलपुर में शहीद 14 जवानों को श्रद्धांजलि अर्पित की|

सर्किट हाउस में लंबी बैठक के बाद शाह ने मीडिया से कहा कि विकास के मोर्चे पर भी कई सारे कार्य हुए हैं| कोरोना की वजह से थोड़ा ब्रेक जरूर लगा है| जितने भी सुझाव छत्तीसगढ़ की तरफ से मिले हैं, सभी पर काम किया जा रहा है| आदिवासी इलाकों में विकास के काम को तेज करना और नक्सलियों के खिलाफ लड़ाई को तीव्रता के साथ आगे बढ़ाने के लिए दोनों मोर्चे पर दोनों सरकारें काम कर रही हैं|

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि जवानों ने बहुत बहादुरी से नक्सलियों से ‘युद्ध’ किया| इस एनकाउंटर में बड़ी संख्या में नक्सली मारे गए हैं| दो-चार दिन में ये संख्या सामने आ जाएगी| जहां मुठभेड़ हुई, वो नक्सलियों का गढ़ माना जाता है| नक्सली बौखलाहट में ऐसे कदम उठा रहे हैं| जल्द ही दूसरे इलाकों में कैंप खोले जाएंगे| नक्सली सीमित दायरे में सिमट गए हैं| आगे भी ऐसे ऑपरेशन होते रहेंगे| केंद्र के साथ पूरे समन्वय के साथ काम हो रहा है|

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुई मुठभेड़ में 22 जवान शहीद हो गए और 31 जवान घायल हैं| एक जवान के नक्सलियों के कब्जे में होने की खबर है| जिसकी तलाश की जा रही है|

शहीद जवानों में DRG के 8, STF के 6 , CRPF COBRA बटालियन के 7 जवान और बस्तर बटालियन का 1 जवान शहीद शामिल है| कोरबा बटालियन के शहीद  जवानों में असम के 2, आंध्र प्रदेश के 2, उत्तर प्रदेश के 2 और त्रिपुरा का एक जवान शामिल है|

Leave A Reply

Your email address will not be published.