छत्तीसगढ़: धरमजयगढ़ वन मंडल में फिर एक जंगली हाथी करंट से मारा गया

छत्तीसगढ़ में बिलासपुर संभाग के रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़ वन मंडल में बीती रात एक जंगली हाथी  करंट  से मारा गया  पिछले हफ्ते भी एक हाथी ने इसी तरह जान  गंवाई थी |बीते  एक महीने में इस वनमंडल में तीन हाथी इसी तरह जान गँवा चुके हैं |

0 102

- Advertisement -

रायगढ़| छत्तीसगढ़ में बिलासपुर संभाग के रायगढ़ जिले के धरमजयगढ़ वन मंडल में बीती रात एक जंगली हाथी  करंट  से मारा गया  पिछले हफ्ते भी एक हाथी ने इसी तरह जान  गंवाई थी |बीते  एक महीने में इस वनमंडल में तीन हाथी इसी तरह जान गँवा चुके हैं |

वन विभाग के अनुसार के  रायगढ़ जिले के  धरमजयगढ़ वन मंडल रेंज के   पोटिया गाँव के एक खेत में जंगली हाथी का शव मिला है। प्रारंभिक जांच में  मौत करंट से होना माना  जा रहा है।
लगातार बढ़ रहा हाथियों का इंसानों से संघर्ष

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक धरमजयगढ़ इलाके में पिछले कई सालों से हाथी-मानव संघर्ष जारी है।  दोनों ओर से  जान जा रही है।

अक्सर ग्रामीण अपनी फसल को जंगली जानवरों से बचाने , या फिर शिकार के लिए करंट को एक हथियार की तरह उपयोग करते हैं | छत्तीसगढ़ के हाथी प्रभावित इलाकों में इस तरह की कई घटनाएँ सामने आ चुकी हैं , हाथी ही नहीं ,वन्य जानवरों हिरन,चीतल के अलावा खुद इंसान भी इसके सम्पर्क में आकर जान गंवा देता है | करंट बिछाकर शिकार के लिए न तो वन अमला गंभीर नजर आता है न ही  राज्य  सरकार |

- Advertisement -

जंगल कट रहे हैं , उद्योग स्थापित हो रहे हैं | लोगों और हाथियों का मारा जाना जारी  है | वरिष्ठ पत्रकार आलोक पुतुल ने ट्विट किया है-

 

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक कांग्रेस सरकार के शासन काल में प्रदेश में सर्वाधिक हाथी मारे गये हैं | बीते 3 बरस में रायगढ़, धरमजयगढ़, कोरबा, जशपुर, सरगुजा, महासमुंद समेत अन्य जिलों  जहाँ हाथियों ने  204 इन्सान की जान ली वहीं 49 हाथियों ने भी जान गंवाई ।

 

Leave A Reply

Your email address will not be published.