छत्तीसगढ़ में कोरोना संक्रमण कम, पर मौत का आंकड़ा बढ़ने लगा

छत्तीसगढ़ में शहरों में कोरोना संक्रमण कम होने लगा है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में जयादा | प्रदेश में संक्रमण अब आंकड़ा 10 हजार से नीचे होने लगा है लेकिन मौत का सिलसिला थम नहीं रहा, आंकड़ा एक बार फिर बढ़ने लगा है| गुरुवार को 24 घंटे में जहाँ 9 हजार 121 नए मरीज मिले वहीँ 195 ने दम तोड़ दिया|

0 8

रायपुर| छत्तीसगढ़ में शहरों में कोरोना संक्रमण कम होने लगा है, लेकिन ग्रामीण इलाकों में जयादा | प्रदेश में संक्रमण अब आंकड़ा 10 हजार से नीचे होने लगा है लेकिन मौत का सिलसिला थम नहीं रहा, आंकड़ा एक बार फिर बढ़ने लगा है| गुरुवार को 24 घंटे में जहाँ 9 हजार 121 नए मरीज मिले वहीँ 195 ने दम तोड़ दिया|

इधर रायपुर, बिलासपुर, राजनांदगांव और दुर्ग में नए मरीज के आंकड़ों में गिरावट आई है।  सप्ताह भर पहले तक जहाँ इन शहरों से 1 हजार से अधिक संक्रमित मिल रहे थे। वहीँ अब यह आंकड़ा तीन से चार सौ के आस-पास है।

छत्तीसगढ़ में मौत का आंकड़ा एक बार फिर बढ़ने लगा पिछले 24 घंटों में 195 संक्रमितों की जान गई। अब तक  मरने वालों का आंकड़ा 11 हजार 289 हो चुका है। बीती 7 मई को कुल मौतों का आंकड़ा 10 हजार 158 था।

प्रदेश में एक्टिव मरीजों की संख्या 1 लाख 19 हजार 450 हो चुकी है।

गुरुवार को 67 हजार 738 सैंपल जांचे गए।

राजधानी रायपुर में पिछले 24 घंटे में 655 नए मरीज मिले। 28 लोगों की मौत हुई, अब राजधानी में एक्टिव मरीज 8 हजार 758 हैं।

दुर्ग में 278 नए मरीज मिले, 34 लोगों की जान गई। अब यहां एक्टिव मरीज 4240 हैं। बिलासपुर में 433 नए मरीज मिले, 17 लोगों की मौत हुई। अब यहां एक्टिव मरीज 6913 हैं।

राजनांदगांव में 252 नए मरीज मिले, 5 लोगों की मौत हुई। यहां एक्टिव केस 4429 हैं।

रायगढ़ में 721 नए मरीज मिले, 13 लोगों की मौत हुई है। अब एक्टिव केस 10674 हैं।

कोरबा में 462 लोग संक्रमित हुए, 9 संक्रमितों की मौत हुई। अब यहां 7975 एक्टिव मरीज हैं। छत्तीसगढ़ के नारायणपुर में 31 मरीज मिले, अब यहां 436 एक्टिव मरीज हैं।

छत्तीसगढ़ में  अप्रैल की तुलना में मई के पहले सप्ताह में भले ही संक्रमण दर में गिरावट दर्ज की गई हो, लेकिन यह गिरावट सिर्फ शहरी क्षेत्र में देखने को मिल रही हैं। अप्रैल में शहरी क्षेत्र में कोरोना का तेजी से प्रसार हुआ।  उस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में स्थिति नियंत्रण में थी।

अब  आंकड़ों को देखें तो ग्रामीण क्षेत्रों में अप्रैल के आखिरी सप्ताह से मई के पहले सप्ताह में तेजी देखने को मिल रही है। अब सर्वाधिक सक्रिय मामले रायगढ़, जांजगीर-चांपा, कोरबा, मुंगेली, कोरिया, बलौदाबाजार जैसे ग्रामीण बहुल जिलों में आ रहे हैं।

Leave A Reply

Your email address will not be published.