तूफान जवाद तेजी से कमजोर, छत्तीसगढ़ बेअसर

तूफान जवाद तेजी से कमजोर हो रहा है। ओडिशा तट के पास पहुंचने पर कम दबाव के क्षेत्र में बदल जाएगा।  छत्तीसगढ़ से दूर होने की वजह से पर होने वाला असर भी टलता दिखाई दे रहा है |

0 13

भुवनेश्वर/ रायपुर |  तूफान जवाद तेजी से कमजोर हो रहा है। चक्रवात आज दोपहर  विशाखापत्तनम से 355 किमी से अधिक की दूरी पर केंद्रित होने के कारण एक दबाव में बदल गया है।  वह ओडिशा तट के पास पहुंचने पर कम दबाव के क्षेत्र में बदल जाएगा।  छत्तीसगढ़ से दूर होने की वजह से पर होने वाला असर भी टलता दिखाई दे रहा है |

मिडिया रिपोर्ट के मुताबिक हवा की गति लगभग 55kmph तक गिर गई है।  जवाद के अत्यधिक संवहनी वर्षा वाले बादल अब इसके उत्तर-पूर्व चतुर्थांश की सीमा पर हैं, जहां हवा का झोंका कम है। इसलिए ओडिशा में में बहुत भारी वर्षा की आशंका नहीं है |  जवाद रविवार 5 दिसंबर की सुबह ओडिशा तट पर पहुंच जाएगा।

यह भी पढ़ें : तूफान जवाद: 4-5 दिसंबर को कई ट्रेनें रद्द और कई के मार्ग बदले

- Advertisement -

छत्तीसगढ़  की राजधानी रायपुर के मौसम विज्ञान केंद्र  के विज्ञानी एचपी चंद्रा के मुताबिक , जवाद चक्रवाती तूफान पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में 16.4 डिग्री उत्तर और 84.8 डिग्री पूर्व में स्थित है। यह तूफान, 5 दिसंबर की दोपहर “पुरी’ के पास एक गहरे अवदाब के रुप में पहुंचेगा। इसके बाद यह लगातार कमजोर होता जाएगा।

चंद्रा के मुताबिक , चक्रवात  के छत्तीसगढ़ से दूर हो जाने के कारण इसका असर 5 दिसंबर के मौसम पर नहीं रहेगा। तापमान में भी कोई विशेष परिवर्तन नहीं होगा। लेकिन 6 दिसंबर से प्रदेश के न्यूनतम तापमान मे गिरावट की संभावना बन रही है।

ओडिशा के अलावा छत्तीसगढ़ के लिए यह खबर एक बड़ी राहत लेकर  आया है क्योंकि ओडिशा में भारी से अत्यधिक भारी बारिश के पूर्वानुमान ने एक तरह की दहशत पैदा कर दी थी । किसानों के लिए बड़ी राहत है क्योंकि बहुत भारी बारिश से उनकी खड़ी फसलें नहीं बहेंगी। बारिश से  नुकसान भी कमतर होगा |

Leave A Reply

Your email address will not be published.