बेंगलुरू : बच्चों ने घर से भागते लिख छोड़ा, पढ़ाई में दिलचस्पी नहीं…

कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में बीते दो दिनों में दो अलग-अलग घटनाओं में एक कॉलेज छात्रा समेत सात स्कूली छात्र लापता हो गए हैं| उनके घरों से बरामद पत्रों के अनुसार, उन्हें पढ़ाई में कोई दिलचस्पी नहीं थी।

0 42

- Advertisement -

बेंगलुरू|  कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरू में बीते दो दिनों में दो अलग-अलग घटनाओं में एक कॉलेज छात्रा समेत सात स्कूली छात्र लापता हो गए हैं| उनके घरों से बरामद पत्रों के अनुसार, उन्हें पढ़ाई में कोई दिलचस्पी नहीं थी। वे खेल में अपना करियर बनाना चाहते हैं|ये सभी दो अपार्टमेंट में रहते हैं |

पुलिस के मुताबिक इनमें से 3 एक अपार्टमेन्ट के निवासी हैं |  इन स्कूली छात्रों के  घरों से बरामद पत्रों के अनुसार, छात्रों ने घर इसलिए छोड़ दिया क्योंकि उन्हें पढ़ाई में कोई दिलचस्पी नहीं थी।

पुलिस ने कहा कि हेसरघट्टा रोड स्थित सौंदर्या लेआउट निवासी परीक्षित, नंदन और किरण 10वीं कक्षा में पढ़ रहे हैं और शनिवार सुबह से लापता हैं। परिजनों ने शाम तक उनकी तलाश की और पुलिस में शिकायत की।

पुलिस ने लड़कों द्वारा छोड़े गए पत्र बरामद किए हैं। पुलिस ने कहा कि उन्होंने उल्लेख किया है कि उन्हें पढ़ाई में कोई दिलचस्पी नहीं है और वे अच्छा नाम और पैसा कमाकर वापस आएंगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक तीन लड़कों ने अलग-अलग पत्र लिखे हैं। उनके पत्रों में उल्लेख किया गया, हम पढ़ाई से ज्यादा खेल में रुचि रखते हैं। अगर आप हम पर दबाव डालते हैं, तो भी हमारी पढ़ाई करने में कोई दिलचस्पी नहीं है। हम खेल के क्षेत्र में अपना करियर बनाएंगे। हमें कबड्डी खेल पसंद है। हम इसमें अच्छा नाम कमाएंगे। इस क्षेत्र में और उत्कृष्ट प्रदर्शन करके और उस क्षेत्र में नाम कमाने के बाद लौटेंगे।

- Advertisement -

उन्होंने माता-पिता को भी तलाशी न करने की बात कही है। इधर पुलिस सीसीटीवी कैमरों के इनपुट के आधार पर जांच शुरू कर दी है।

वहीँ एजीबी लेआउट के पास रविवार को दर्ज एक अन्य मामले में एक 21 वर्षीय लड़की और तीन बच्चे संदिग्ध रूप से लापता हो गए।

बीसीए तीसरे सेमेस्टर की छात्रा अमृतवर्षिनी ,  रोयन सिद्धार्थ, चिंतन और भूमि, सभी 12 साल के बच्चे और क्रिस्टल अपार्टमेंट के निवासी लापता हो गए। चारों रविवार की सुबह अपने घर से निकले और वापस नहीं लौटे हैं।

अभिभावकों ने पुलिस को बताया है कि उनके बच्चे ज्यादातर समय अमृतवर्षिणी के साथ बिताते हैं और वह बच्चों को साथ ले गई है।

इसी बीच एक बच्चे के घर से एक नोट मिला है जिसमें चप्पल, टूथब्रश, टूथपेस्ट, पानी की बोतल, नकदी और खेल का सामान ले जाने का जिक्र है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.